--Advertisement--

न घर का किराया देने के पैसे, न पढ़ाई जारी रखने की हैसियत, गरीबी में पापा भी भगवान भरोसे छोड़ गए, रियलिटी शो से बदल रही है 10 साल की बच्ची की किस्मत

एक डायरेक्टर ने एक्टिंग देख दिया काम, दूसरे ने काम देने का वादा किया

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 11:06 AM IST

एंटरटेनमेंट डेस्क. जीटीवी के रियलिटी शो 'इंडियाज बेस्ट ड्रामेबाज' में 10 साल की दीपाली बोरकर की कहानी सुनकर कोई भी इमोशनल हुए बिना नहीं रह पाएगा। पुणे महाराष्ट्र की रहने वाली दीपाली की आर्थिक स्थित इतनी खराब है कि जिस घर में रहती है उसका किराया बमुश्किल जुटा पाती हैं। फाइनेंशियल प्रॉब्लम की वजह से पिता तक अकेला छोड़कर चला गया। मां जैसे-तैसे बेटियों को पाल रही है। लेकिन कहते हैं न किस्मत बदलते देर नहीं लगती है। दीपाली की दर्दभरी कहानी सुनकर मदद के लिए सेलेब्स आगे आए हैं...

- दीपाली इन दिनों 'इंडियाज बेस्ट ड्रामेबाज' में अपना हुनर दिखा रही हैं। जजेज से उसे अपनी परफॉर्मेंस के लिए सराहना भी मिलती है।

- अब दीपाली को फाइनेंशियल मदद भी मिल गई है। दरअसल, पिछले हफ्ते दीपाली की मां ने बताया था कि वे पैसे की कमी के चलते दीपाली की पढ़ाई नहीं करा सकीं।

- मां की कहानी सुनकर और दीपाली की प्रतिभा से प्रभावित होकर डायरेक्टर ओमंग कुमार ने दीपाली को फिल्म ऑफर दे दिया। इतना ही नहीं उन्होंने दीपाली को साइनिंग अमाउंट भी दिया। साथ ही उन्होंने एक साल तक दीपाली के घर का किराया देने का वादा भी किया।

- खबरों की मानें तो डायरेक्टर विशाल भारद्वाज भी दीपाली की प्रतिभा से प्रभावित हुए और उन्होंने कहा है कि अगर उन्हें भविष्य में कभी चाइल्ड आर्टिस्ट की जरूरत होगी तो वे दीपाली को कास्ट करेंगे।


हीरोइन बनना चाहती हूं
DainikBhaskar.com से बात करते हुए दीपाली ने कहा-, 'इतने बड़े लोगों से सराहना मिलने से मैं बहुत खुश हूं। मैं बड़ी हीरोइन बनना चाहती हूं और ऐसा लग रहा है कि मेरा सपना पूरा हो गया है। मुझे नहीं पता कि मेरे भाग्य में क्या लिखा है लेकिन जिस तरह चीजें हो रही हैं उससे में बहुत खुश हूं। मैं इस शो को जीतने के लिए कड़ी मेहनत कर रही हूं। बता दें कि कुछ साल पहले दीपाली के पिता ने आर्थिक जिम्मेदारियों से मुंह मोड़कर फैमिली का साथ छोड़ दिया था। दीपाली की मां ने अकेले दोनों बेटियों को बड़ा किया है। दीपाली ही घर में कमाने वाली एकमात्र सदस्य है।