--Advertisement--

अहमदाबाद की कांकरिया लेक बनी देश का पहली 'क्लीन स्ट्रीट फूड हब', 66 वेंडर्स परोसते हैं स्ट्रीट फूड

FSSAI का लक्ष्य अगले एक वर्ष में देश में ऐसे 150 स्ट्रीट फूड हब की पहचान करना है।

Danik Bhaskar | Sep 08, 2018, 08:00 PM IST

​लाइफस्टाइल डेस्क. भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (FSSAI) ने अहमदाबाद की कांकरिया लेक को देश का पहला 'क्लीन स्ट्रीट फूड हब' घोषित किया है। FSSAI का लक्ष्य अगले एक वर्ष में देश में ऐसे 150 स्ट्रीट फूड हब की पहचान करना है। 16वीं सदी की कांकरिया लेक के आसपास करीब 66 वेंडर्स स्ट्रीट फूड परोसते हैं। 2018 की शुरुआत में हुए ऑडिट को FSSAI और गुजरात फूड एंड ड्रग कंट्रोल एडमिनिस्ट्रेशन ने मिलकर किया है। इस दौरान फूड की क्वालिटी को बेहतर बनाने के लिए वेंडर्स को ट्रेनिंग भी दी गई थी।

क्या है 'क्लीन स्ट्रीट फूड हब'
देश में स्ट्रीट फूड को लेकर साफ-सफाई बरतने और विरासत को सहेजने की एक मुहिम है। इसका लक्ष्य स्ट्रीट फूड वेंडिंग के कॉन्सेप्ट में जरूरी बदलाव लाना है ताकि देश और विदेश के टूरिस्ट भी ऐसे फूड को एंज्वॉय कर सकें। भारतीय फूड को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति दिलाना भी इस पहला का हिस्सा है।

वेंडर्स फॉलो कर रहे हैं गाइडलाइन
FSSAI के सीईओ पवन अग्रवाल के मुताबिक स्ट्रीट फूड वेंडर्स फूड गाइडलाइन का पालन कर रहे हैं। इसके अलावा समय-समय पर स्टेट फूड रेग्युलेटर अथॉरिटी भी निरीक्षण कर रही है। ताकि इनकी क्वालिटी और साफ-सफाई में लापरवाही न हो।

इन प्वाइंट्स पर हुआ ऑडिट
ऑडिट के कुछ पैमाने तय किए गए थे। कचरे का निस्तारण, साफ-सफाई का ध्यान, कुकिंग और नॉन कुकिंग एरिया का निर्धारण करना, स्ट्रीट लाइट, पेस्ट कंट्रोल और आसपास सफाई का स्तर क्या है, जैसे पहलू के आधार पर लेक को यह दर्जा दिया गया है।