--Advertisement--

महंगाई दर जून में 5% के ऊपर जा सकती है, ग्लोबल ब्रोकरेज फर्मों ने जताया अनुमान

चालू वित्त वर्ष की दूसरी छमाही में विकास दर गिरने की आशंका जताई।

Dainik Bhaskar

Jun 18, 2018, 10:15 AM IST
खुदरा महंगाई दर ​अप्रैल में 4.58% खुदरा महंगाई दर ​अप्रैल में 4.58%

नई दिल्ली. खुदरा महंगाई दर फिलहाल बढ़ेगी, लेकिन साल की दूसरी छमाही में इसके घटने के आसार हैं। पिछले साल के कम बेस के कारण महंगाई दर पहली छमाही में 5% को पार कर सकती है। यह अनुमान तीन जानी- मानी ग्लोबल ब्रोकरेज फर्मों का है। रिजर्व बैंक ने पहली छमाही में 4.8-4.9% और दूसरी छमाही में 4.7% महंगाई का अनुमान जताया है।

सितंबर के बाद जीडीपी ग्रोथ 7% पर आने की आशंका
बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिंच ने एक रिसर्च नोट में कहा कि 2018-19 की दूसरी छमाही में औसत खुदरा महंगाई दर 4.2% रहने की उम्मीद है। हालांकि ग्रोथ को लेकर इसके अनुमान निराशाजनक हैं। इसने कहा है कि विकास दर आगे कमजोर होगी। कंपनियों में क्षमता का इस्तेमाल 75% से कम रहेगा। बेस इफेक्ट के कारण सितंबर तक जीडीपी ग्रोथ रेट 7.5% रहेगी, लेकिन दूसरी छमाही में यह 7% पर आ जाएगी।

जून के बाद महंगाई में कमी आएगी: डॉयचे बैंक

डॉयचे बैंक का अनुमान है कि जून में महंगाई दर 5.1 से 5.3% तक चली जाएगी। उसके बाद बेस इफेक्ट खत्म होने पर इसमें गिरावट आएगी। दिसंबर तक महंगाई दर गिरकर 4% तक पहुंच जाएगी। उसके बाद इसमें फिर बढ़ोतरी शुरू होगी और मार्च 2019 तक 4.6% तक चली जाएगी। स्विस ब्रोकरेज फर्म यूबीएस का आकलन है कि 2018-19 में खुदरा महंगाई दर 5% के आसपास रहेगी।

X
खुदरा महंगाई दर ​अप्रैल में 4.58% खुदरा महंगाई दर ​अप्रैल में 4.58%
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..