--Advertisement--

36 साल बाद विश्व कप खेलने उतरी पेरू पहले मैच में हारी, पॉलसन के गोल से डेनमार्क 1-0 से जीता

16 अंतरराष्ट्रीय मैच के बाद पेरू की यह पहली हार है। इससे पहले उसने 16 में से 10 मैच जीते थे।

Danik Bhaskar | Jun 16, 2018, 11:45 PM IST
गोल करते डेनमार्क के पॉलसन। गोल करते डेनमार्क के पॉलसन।

  • डेनमार्क ने सबसे अच्छा प्रदर्शन 1998 में किया था, तब उसने आखिरी 8 में जगह बनाई थी
  • विश्व कप में दूसरी बार वीडियो असिस्टेंट रेफरल (वीएआर) का इस्तेमाल किया गया

सरांस्क. विश्व कप के ग्रुप सी में डेनमार्क ने पेरू को 1-0 से हरा दिया। पॉलसन ने मैच का एकमात्र गोल 58वें मिनट में बॉक्स के अंदर से किया। ये विश्व कप इतिहास में डेनमार्क का 28वां गोल है और सभी गोल बॉक्स के अंदर से मारे गए हैं। इससे पहले पेरू के क्रिश्चियन कुएवा को गोल करने का मौका मिला था, लेकिन वे असफल रहे। 45वें मिनट में पेरू को वीडियो असिस्टेंट रेफरल (वीएआर) से पेनाल्टी मिली, लेकिन 11 मीटर की दूरी से मारा गया कुएवा का यह शॉट गोलपोस्ट के ऊपर से निकल गया। पेरू की टीम 36 साल बाद विश्व कप उतरी लेकिन, उसे हार का सामना करना पड़ा।

विलियम क्वीस्ट चोटिल होकर मैच से बाहर हुए

- डेनमार्क के मिडफील्डर डेनियल क्वीस्ट मैच के 33वें मिनट में चोटिल हो गए। जिसके बाद डेनमार्क की टीम ने 34वें मिनट में उनकी जगह लैसे शोन को मैदान पर उतारा। उसके बाद उसने 68वें मिनट में पिओने सिस्टो की जगह मार्टिन ब्रैथवैट और 81वें मिनट में आंद्रेस क्रिश्चेशेन की जगह जोर्गेंसन को मैदान पर भेजा। उसके बाद डेनमार्क के डेल्ने को 86वें और पॉलसन को 93वें मिनट में येलो कार्ड दिखाया गया।

- इससे पहले 38वें मिनट में पेरू के तापिया को रेफरी ने येलो कार्ड दिखा दिया। पेरू ने फ्लोरेस की जगह पाउलो गुएरेरो को 63वें मिनट और 85वें मिनट में पेरू ने फरफान की जगह रुईडियाज को मैदान पर भेजा।

पेरू ने डेनमार्क से ज्यादा किया गोल का प्रयास

टीम गोल का प्रयास कॉर्नर बॉल पजेशन पास पास एक्यूरेसी दूरी तय किया
डेनमार्क 10 7 48% 344 82% 110 किलेमीटर
पेरू 17 3 52%

396

84%

104 किलोमीटर

विश्व कप में दोनों टीमें पहली बार आमने-सामने

- दोनों देश विश्व कप में पहली बार आमने-सामने हुईं। पेरू ने आखिरी बार 1982 विश्व कप में हिस्सा लिया था। वहीं, डेनमार्क 5वीं बार वर्ल्ड कप में हिस्सा ले रही है। उसने पिछली बार 2010 विश्व कप में भाग लिया था, लेकिन पहले दौर में ही बाहर हो गई थी।

पेरूः गोलकीपर: पेद्रो गालेसे, कार्लोस सासेडा और जोस कार्वालो। डिफेंडर: एल्डो कोजरे, लुइस एडविनाकुला, मिगुएल अराजुओ, एल्बटरे रोड्रिगेज, क्रिस्टियन रामोस, एंडरसन सेंटामारिया, निल्सन लोयोला, मिगुएल ट्राउको। मिडफील्डर: रेनाटो टापिया, प्रेडो एक्विनो, योशिमार योतुन, एडिसन फ्लोरेस, पाउलो हुर्तादो, विल्डर काटार्गेना, क्रिस्टन कुएवा, एंडी पोलो। फारवर्ड: आंद्रे कारिलो, जेफरसन फारफान, राउल रुइडियाज, पाउलो गुएरेरो।


डेनमार्कः गोलकीपरः कैस्पर श्माइकल, जोनास लोस्सल, फेडेरिक रोनबो। डिफेंडरः सिमोन काएर, आंद्रेस क्रिस्टेनसन, माथियास जोर्गेनसन, जानिक वेस्टरगार्ड, हेनरिक डाल्सगार्ड, जेंस स्ट्रेगर लार्सेन, जोनास नुडसेन। मिडफील्डरः विलियम क्विस्ट, थोमस डेलाने, लुकास लेरागर, लासे शोने, क्रिस्टियन एरिकसन, मिशेल क्रोन-डेली। फारवर्डः पियोने सिस्टो, मार्टिन ब्राथवैट, आंद्रेस कोर्निलियुस, विक्टर फिश्चेर, युसुफ पोल्सन, निकोलाई जोर्गेनसन, कास्पर डोलबर्ग।

पेनाल्टी चूकने के बाद पेरू के क्रिश्चियन कुएवा। पेनाल्टी चूकने के बाद पेरू के क्रिश्चियन कुएवा।
डेनमार्क के डेनियल क्वीस्ट को मैदान से बाहर ले जाते मेडिकल स्टाफ। डेनमार्क के डेनियल क्वीस्ट को मैदान से बाहर ले जाते मेडिकल स्टाफ।
मैच देखने पहुंचे पेरू के प्रशंसक। मैच देखने पहुंचे पेरू के प्रशंसक।