--Advertisement--

अर्जेंटीना के खिलाफ मैच से डेब्यू करेगी आइसलैंड, 36 साल बाद विश्व कप में उतरेगी पेरू

अर्जेटीना का क्वालिफाइंग मुकाबलों में प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा। उसने 18 मैच में सिर्फ 19 गोल किए।

Danik Bhaskar | Jun 16, 2018, 10:54 PM IST

  • फीफा रैंकिंग में अर्जेंटीना 5वें और आइसलैंड 22वें नंबर पर है
  • पेरू 11वीं, डेनमार्क 12वीं, क्रोएशिया 20वीं, नाइजीरिया 48वीं पायदान पर

मॉस्को. फुटबॉल विश्व कप के तीसरे दिन शनिवार को 4 मुकाबले होंगे। पहला- फ्रांस और ऑस्ट्रेलिया, दूसरा- अर्जेंटीना और आइसलैंड, तीसरा- पेरू और डेनमार्क और चौथा- क्रोएशिया और नाइजीरिया के बीच खेला जाएगा। ग्रुप डी में अर्जेंटीना के खिलाफ मैच खेलकर आइसलैंड वर्ल्ड कप में अपना डेब्यू करेगी। चारों मुकाबलों में उतरने वाली टीमें इससे पहले वर्ल्ड कप में कभी भी एक दूसरे से नहीं भिड़ी हैं।

मुकाबला ग्रुप वेन्यू शुरुआत का भारतीय समय
फ्रांस v/s ऑस्ट्रेलिया सी कजान एरिना शाम 3ः30 बजे
अर्जेंटीना v/s आइसलैंड डी स्पार्टक स्टेडियम शाम 6ः30 बजे
पेरू v/sडेनमार्क सी मोरदोविया एरिना रात 9ः30 बजे
नाइजीरिया v/s क्रोएशिया डी कालिनग्राद स्टेडियम रात 12ः30 बजे

अर्जेंटीना v/s आइसलैंडः उलटफेर कर सकती है आइसलैंड की टीम
विश्व कप में जितने भी देश में भाग ले रहे हैं, उनमें आइसलैंड आबादी के हिसाब से सबसे छोटा है। उससे उलटफेर की उम्मीद है। 2016 में यूरोपीय चैम्पियनशिप में वह इंग्लैंड को 2-1 से हराकर यह साबित भी कर चुका है। उधर, अर्जेंटीना 2 बार की विजेता है। इस बार भी खिताब की दावेदार मानी जा रही है। उसकी कमान लियोनेल मेसी के हाथों है। मेसी अपने क्लब बार्सिलोना को दुनिया के लगभग सभी खिताब दिला चुके हैं, लेकिन अपने देश के लिए विश्व कप नहीं जीत सके। पिछले विश्व कप का फाइनल हारने वाली अर्जेंटीना का क्वालिफाइंग मुकाबलों में भी प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा। उसने 18 मैचों में सिर्फ 19 गोल किए।

फ्रांस v/s ऑस्ट्रेलियाः आंकड़े फ्रांस के पक्ष में
ग्रुप सी के इस मैच में फ्रांस का पलड़ा भारी है। 1998 की चैम्पियन फ्रांस का आक्रमण शानदार है। अटैक की जिम्मेदारी एंटोनी ग्रीजमैन पर है। उनका साथ देने के लिए कयलियान मबप्पे और स्पेनिश क्लब बार्सिलोना के लिए खेलने वाले युवा ओयुसमाने डेमबेले भी हैं। विश्व कप का रिकॉर्ड भी फ्रांस के पक्ष में है। उसने 2002 में सेनेगल के हाथों मिली हार के बाद से विश्व कप के अपने शुरुआती मैच में एक भी नहीं गंवाया है। फ्रांस की टीम 4-4-2 फॉर्मेशन के साथ मैदान में उतर सकती है। वहीं, ऑस्ट्रेलिया 3-4-1-2 फॉर्मेशन के साथ मैदान पर उतरना पसंद करेगी। ऑस्ट्रेलिया का वर्ल्ड कप में प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा है। वह पिछले पांच विश्व कप में एक बार ही अंतिम-16 से आगे नहीं बढ़ पाई।

पेरू v/s डेनमार्कः 14 महीने के प्रतिबंध के बाद विश्व कप में उतरेंगे पाओलो
ग्रुप सी में पेरू की टीम जब शुक्रवार को डेनमार्क के खिलाफ मैदान पर उतरेगी तो उसका दारोमदार पाओलो गुएरेरो पर होगा। पाओलो भी डोपिंग के कारण लगे प्रतिबंध को भुलाकर खुद को साबित करना चाहेंगे। कोकीन लेने के कारण पाओलो पर 14 महीने का प्रतिबंध लगा था, जो पिछले हफ्ते ही हटा है। डेनमार्क के पास भी गोल मशीन एरिक्सन हैं। उन्होंने क्वालिफायर में 11 गोल दागे थे। उनसे ज्यादा गोल सिर्फ क्रिस्टियानो रोनाल्डो और रॉबर्ट लेवनडोस्की ने किए थे। 26 साल के एरिक्सन टोटेनहैम होट्सपुर की तरफ से खेलते हैं। उन्होंने पिछले साल नवंबर में आयरलैंड के खिलाफ डेनमार्क की 5-1 से जीत में हैट्रिक लगाई थी। उन्होंने विश्व कप से पहले फ्रेंडली मैच में मेक्सिको 2-0 की जीत में भी गोल किया था।

क्रोएशिया v/s नाइजीरियाः स्टार खिलाड़ी क्रोएशिया को नॉकआउट तक ले जाने में सक्षम
- ग्रुप डी में नाइजीरिया का पहला मुकाबला 1998 विश्व कप का सेमीफाइनल खेलने वाली क्रोएशिया से होगा। क्रोएशिया की ताकत उसका मिडफील्ड और फॉरवर्ड है। टीम के कई खिलाड़ी दुनिया के शीर्ष फुटबॉल क्लब से जुड़े हैं। कप्तान लुका मोड्रिक रियाल मैड्रिड और इवान रेकिटिक बार्सिलोना क्लब से खेलते हैं। मारियो मांजुकिक इटली लीग की मौजूदा चैम्पियन जुवेंट्स का हिस्सा हैं। इन खिलाड़ियों का अनुभव टीम को नॉकआउट दौर तक पहुंचा सकता है।
- वहीं, पिछले 7 में से 6 विश्व कप खेल चुकी नाइजीरिया का क्वालिफाइंग मुकाबलों में प्रदर्शन शानदार रहा है। अल्जीरिया, जाम्बिया और कैमरून जैसी टीमों के रहते हुए उसने 14 अंकों के साथ विश्व कप में जगह बनाई है। हालांकि, टीम का डिफेंस कमजोर है, लेकिन वह क्रोएशिया के लिए खतरा साबित हो सकती है।

शुक्रवार के मुकाबलों के परिणाम
ग्रुप ए : उरुग्वे ने मिस्र को 1-0 से हराया
ग्रुप बी : ईरान ने मोरक्को को 1-0 से हराया
ग्रुप बी : पुर्तगाल और स्पेन का मैच 3-3 पर ड्रॉ