अार्थिक एजेंडे के बजाय मानव जाति के हिताें काे वैश्वीकरण के केंद्र में रखें... सभी देश मिलकर लड़ाई लड़ें : पीएम माेदी

Palamu News - प्रधानमंत्री नरेंद्र माेदी ने अार्थिक एजेंडे के बजाय मानव जाति के हिताें काे वैश्वीकरण के केंद्र में रखने का...

Mar 27, 2020, 07:35 AM IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र माेदी ने अार्थिक एजेंडे के बजाय मानव जाति के हिताें काे वैश्वीकरण के केंद्र में रखने का अाह्वान किया है। काेराेनावायरस संकट की पृष्ठभूमि में गुरुवार काे वीडियाे काॅन्फ्रेंसिंग से हुए जी20 देशाें के सम्मेलन में उन्हाेंने यह बात कही। इस दाैरान सभी देशाें ने मिलकर काेराेना के खिलाफ लड़ाई पर सहमित जताई। अर्थव्यवस्था काे हुए नुकसान से निपटने के लिए 5 ट्रिलियन डाॅलर (करीब 375 लाख करोड़ रुपए) भी डाले जाएंगे। प्रधानमंत्री माेदी ने कहा कि काेराेनावायरस संकट की वजह से हजाराें कीमती जानें जा चुकी हैं। इसका सामाजिक अाैर अार्थिक नुकसान भी उतना ही चेताने वाला है। उन्हाेंने कहा, ‘मैं माैजूदा अाघात से अागे जाकर एक हकीकत पर ध्यान दिलाना चाहूंगा, जिसका खुलासा इस महामारी ने किया है। 2008 के वैश्विक अार्थिक संकट काे कम करने के लिए जी20 अग्रणी मंच के ताैर पर उभर कर सामने अाया था। इसने वित्तीय स्थिरता अाैर वृद्धि काे बढ़ावा दिया।’ उन्हाेंने कहा कि इस प्रक्रिया में हमने वैश्विकरण काे परिभाषित करने के लिए विशुद्ध रूप से अार्थिक एजेंडा ही अपनाया। मानवता के सामूहिक हिताें काे अागे बढ़ाने के बजाय प्रतिस्पर्धी व्यक्तिगत हिताें के संतुलन में ज्यादा सहयाेग किया। उन्हाेंने कहा कि मानवता के साझा हिताें काे प्राेत्साहित करने में बहुपक्षीय मंच कम प्रभावी रहे। भले ही वह अातंकवाद से लड़ने की बात हाे या जलवायु परिवर्तन का मुद्दा। काेराेना संकट इसका एक अाैर उदाहरण है।

अर्थव्यवस्था भले मजबूत है, लेकिन व्यवस्था कमजाेर हैं


जिनपिंग ने कहा- काेराेना के खिलाफ वैश्विक युद्ध िछड़े : चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने काेराेना के खिलाफ वैश्विक युद्ध का अाह्वान किया। कहा कि यह वायरस काेई सीमाएं नहीं मानता। जिस महामारी से हम सभी लड़ रहे हैं, वह हमारी साझा दुश्मन है। इसके नियंत्रण अाैर इलाज के लिए हमें एक मजबूत वैश्विक नेटवर्क बनाने की दिशा में मिलकर काम करना चाहिए।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जी20 देशाें के पास दुनिया की जीडीपी का 80% अाैर अाबादी का 60% हिस्सा है। अाैर अब हमारे पास काेराेनावायरस के कुल मामलाें का 90% अाैर इससे हुई माैताें का 88% हिस्सा है। हमारी अर्थव्यवस्थाएं भले ही मजबूत हाे सकती हैं, लेकिन हमारी व्यवस्थाएं स्पष्ट ताैर पर कमजाेर हैं।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना