सुलेमानी की मौत से आईएस खुश, उससे लड़ने के लिए नया गठबंधन हो : ईरान

News - विदेश मंत्री जयशंकर ने कहा कि दुनिया में पहले ही अशांति फैलाने वाली ताकतें हैं। किसी को तो इनसे निपटना होगा।...

Jan 16, 2020, 07:21 AM IST
New Delhi News - is happy with sulaimani39s death new alliance to fight him iran
विदेश मंत्री जयशंकर ने कहा कि दुनिया में पहले ही अशांति फैलाने वाली ताकतें हैं। किसी को तो इनसे निपटना होगा। अमेरिका और ईरान दो स्वायत्त देश हैं। इसलिए किसी भी फैसले पर उनका अधिकार है। आखिर में वही होगा, जो दोनों देश चाहेंगे। चीन से रिश्तों पर उन्होंने कहा कि यह अहम है कि दो पड़ोसी अहम मामलों पर समझ विकसित करें। न ही भारत और न ही चीन रिश्ते खराब करेंगे। यह जरूरी है कि दो देश आगे बढ़ने के साथ रिश्तों में संतुलन भी हासिल करें।

पांचवां रायसीना डायलॉग
तीन दिन का कार्यक्रम : रूस समेत 100 देशों के 700 प्रतिनिधि शामिल हो रहे

भास्कर न्यूज | नई दिल्ली

ईरान के विदेश मंत्री जवाद जरीफ बुधवार को दिल्ली में रायसीना डायलॉग में शामिल हुए। उन्होंने कहा कि जनरल सुलेमानी की मौत से केवल अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, वहां के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो और आतंकी संगठन आईएस खुश हैं। अब हमें आईएस से लड़ने के लिए नए गठबंधन की जरूरत है। हमें पता है कि आईएस कहां खड़ा था। अब हमें यह भी पता है कि अमेरिका आईएस के खिलाफ कहां खड़ा है। अमेरिका से बातचीत में हमारी रुचि नहीं है। वह अब तालिबान से समझौता कर रहा है, ताकि अफगानिस्तान से बाहर निकल सके। ट्रंप कह चुके हैं कि वह अंतरराष्ट्रीय कानून नहीं मानते। उनके विदेश मंत्री पोम्पियो कहते हैं कि अगर ईरान चाहता है कि उसके लोगों को खाना मिले, तो उसे अमेरिका की सुननी होगी। यह युद्ध अपराध की तरह है।

ये रिश्ता है मजबूत...

ऐसा है कार्यक्रम: कार्यक्रम में विदेश मंत्री जयशंकर ने जरीफ से मुलाकात की। रायसीना डायलॉग 2016 से हर साल भारत में हो रहा है। इस बार इसमें चर्चा का विषय आतंकवाद और आधुनिक दुनिया में टेक्नोलॉजी की भूमिका है। तीन दिवसीय कार्यक्रम में 100 देशों के 700 प्रतिनिधि शामिल हो रहे हैं।

भारत: जयशंकर ने कहा- अमेरिका और ईरान स्वायत्त, वे जो चाहेंगे, वही होगा

गठबंधन: आईएस के खिलाफ अमेरिका, ब्रिटेन, जर्मनी समेत 66 देश एकजुट; इनमें से 23 सैन्य माेर्चा संभाल रहे

अमेरिका ने 2014 में आईएस के खिलाफ सैन्य गठबंधन की घोषणा की थी। अमेरिकी सरकार की रिपोर्ट के मुताबिक गठबंधन में जर्मनी, ब्रिटेन, फ्रांस, ऑस्ट्रेलिया समेत 66 देश हैं। इनमें से 23 देशों की सेनाएं गठबंधन में है। सीरिया समेत खाड़ी देशों में आईएस सक्रिय है।

रूस: विदेश मंत्री लावरोव बोले-सुरक्षा परिषद का स्थायी सदस्य बने भारत




X
New Delhi News - is happy with sulaimani39s death new alliance to fight him iran
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना