--Advertisement--

खाते ही नहीं, खिलाते भी थे डॉ. हाथी, मुंबई में दो जगहों पर खोल रखी थीं रोल्स की दुकानें

कुसुम रोल्स नाम से उनकी दो शॉप हैं। इनमें एक मुंबई के मीरा रोड और दूसरी मलाड में है।

Danik Bhaskar | Jul 11, 2018, 12:48 PM IST

बॉलीवुड डेस्क। 'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' में डॉ. हंसराज हाथी का रोल निभाने वाले कवि कुमार आजाद का 9 जुलाई को हार्ट अटैक से निधन हो गया था। वे 46 साल के थे। वे बीते 9 साल से इस सीरियल में काम कर रहे थे। सीरियल में हमेशा वे खाने की बातें करते सुनाई देते थे। रियल लाइफ में भी उन्हें खाने और खिलाने का शौक था। मुंबई में उनकी रोल्स की शॉप हैं।

खोलने वाले थे रेस्त्रां

कवि कुमार ने एक इंटरव्यू में इस बात का जिक्र किया था कि कुसुम रोल्स नाम से उनकी दो शॉप हैं। यहां पर वेज और नॉनवेज दोनों तरह के रोल्स मिलते हैं। इन दुकानों में 30 तरह की रोल्स मिलते हैं। इतना ही नहीं, वह जब भी शॉप पर मौजूद होते थे तो यहां आने वाले कस्टमर्स के साथ सेल्फी भी लेते थे। वह जल्द ही एक रेस्त्रां खोलने की प्लानिंग कर रहे थे।

सेट पर साथी कलाकारों से करते थे खाने की बातें: शो में भिड़े का किरदार निभा रहे मंदार के मुताबिक,- ''हम साथ बैठते थे, खाना खाते थे। यहां तक कि मैं जब भी शूट पर आता तो वे पूछते थे, आज टिफिन में क्या लाए हो। अपने किरदार की तरह रियल लाइफ में भी वो खाने के बेहद शौकीन थे।''

लिखना भी था पंसद

इसी इंटरव्यू के दौरान उन्होंने बताया था कि कई लोग उनका असली नाम नहीं जानते। लोगों की नजर में उनकी पहचान अब डॉ. हाथी के तौर पर है। उन्हें इससे भी खुशी मिलती है कि लोग उनका किरदार याद रखते हैं। वैसे कवि कुमार अपने नाम के मुताबिक ही लिखते भी थे। कविताएं लिखने का शौक उन्हें बचपन से ही था

सर्जरी से घटाया था वजन

एक समय में कवि कुमार का वजन 254 किलो हो गया था। इतने वजन के कारण उन्हें वेंटीलेटर पर भी रखना पड़ा था। 2010 में सर्जरी कराकर उन्होंने 80 किलो वजन घटाया था।