Hindi News »Self-Help »News» Kerala Tailors Son Bags Highest Pay At IIM-N

दर्जी के बेटे को मिला 19 लाख रु का पैकेज, जानें क्या है सफलता का राज

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट (IIM) नागपुर के कैंपस प्लेसमेंट में इस बार जस्टिन फर्नांडिज को हाइएस्ट पैकेज मिला है।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Apr 20, 2018, 09:16 PM IST

  • दर्जी के बेटे को मिला 19 लाख रु का पैकेज, जानें क्या है सफलता का राज
    +2और स्लाइड देखें

    एजुकेशन डेस्क।इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट (IIM) नागपुर के कैंपस प्लेसमेंट में इस बार जस्टिन फर्नांडिज को हाइएस्ट पैकेज मिला है। 27 साल के जस्टिन को 19 लाख रुपए का पैकेज ऑफर हुआ है। जस्टिन के पिता दर्जी हैं और मुश्किल से घर का खर्च निकाल पाते हैं। 

     

    जब जस्टिन स्कूल में पढ़ते थे, तब उनके घर के हालात ऐसे थे कि रोज लगने वाला सामान भी मुश्किल से आ पाता था। उनके घर की सालाना आमदनी महज 50 हजार रुपए थी। जस्टिन की 12वीं कक्षा तक की पढ़ाई का पूरा खर्चा उनकी आंटी ने उठाया। उन्होंने मीडिया को दिए इंटरव्यू में बताया कि मेरे दादाजी दर्जी थे। पिता ने भी यही काम किया। एक समय हमारे घर की हालत काफी खराब हो गई थी। कंट्रोल रेट पर मिलने वाले राशन से ही हम गुजारा करते थे। 

     

    जॉब के साथ ही एमबीए की तैयारी, देखिए अगली स्लाइड में...

  • दर्जी के बेटे को मिला 19 लाख रु का पैकेज, जानें क्या है सफलता का राज
    +2और स्लाइड देखें

    जॉब के साथ ही एमबीए की तैयारी


    > जस्टिन ने स्कॉरलशिप लेकर गवर्नमेंट कॉलेज से बीटेक किया। घर की फाइनेंशियल हालत खराब होने के चलते उन्होंने ग्रैजुएशन के बाद जॉब शुरू कर दी। वे सॉफ्टवेयर कंपनी में काम करने लगे। इसके साथ ही एमबीए की तैयारी शुरू कर दी।

    दूसरे अटेंप्ट में क्लियर की एग्जाम, देखिए अगली स्लाइड में...

  • दर्जी के बेटे को मिला 19 लाख रु का पैकेज, जानें क्या है सफलता का राज
    +2और स्लाइड देखें

    दूसरे अटेंप्ट में क्लियर की एग्जाम


    > उन्होंने दूसरे अटेंप्ट में आईआईएम नागपुर का एंट्रेस एग्जाम क्लियर किया। अपने बेहतरीन प्रदर्शन की दम पर उन्हें हैदराबाद की वैल्यू लैब्स कंपनी ने चुना है। उन्हें एसोसिएट डायरेक्टर के पद के लिए सिलेक्ट किया गया है।

    > आईआईएम नागपुर की बात करें तो जस्टिन के अलावा किसी भी अन्य स्टूडेंट को 19 लाख रुपए का पैकेज ऑफर नहीं हुआ।आईआईएम नागपुर 2015 से फंक्शनल हुआ है। जुलाई 2015 से इंस्टीट्यूट ने अपनी पहली बैच शुरू की।

आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×