पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • जिले में अवैध बजरी खनन के खिलाफ ‘भास्कर’ की मुहिम जारी

जिले में अवैध बजरी खनन के खिलाफ ‘भास्कर’ की मुहिम जारी

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
रामगंज थाने के सामने ही खाली हो रहे हैं बजरी से भरे डंपर व ट्रैक्टर, पुलिस मूकदर्शक

कोतवाल कर रहे हैं बजरी की रखवाली!

रामगंज थाने (लाल गोले में) से 50 कदम की दूरी पर लगे बजरी के ढेर।

अजमेर | सुप्रीम कोर्ट ने बजरी खनन व परिवहन पर पूरी तरह से रोक लगा रखी है। अवैध परिवहन पर कार्रवाई के आदेश हैं। इसके बावजूद रामगंज थाने के सामने ही रोजाना दस-बारह ट्रैक्टर व डंपर बजरी के खाली हो रहे हैं।

सराधना व आस पास के गांवों से बजरी आ रही है। पुलिस द्वारा कार्रवाई नहीं किए जाने से खान विभाग चाहकर भी कुछ नहीं कर पा रहा है। थाने के गेट से लेकर सड़क के कोने तक बजरी के ढेर लगे हैं। जबकि खान विभाग ने जिले के तीनों लीज धारियों के लाइसेंस निरस्त कर दिए हैं। कहने को पुलिस ने रामगंज चुंगी नाका पर नाकाबंदी कर रखी है पर बजरी माफियाओं पर कार्रवाई नहीं हो रही। इसी कारण रामगंज से अजय नगर होते हुए शहर में बजरी सप्लाई हो रही है। भास्कर टीम जब मंगलवार को थाने के पास पहुंची तो एक डंपर खाली हो चुका था जबकि बजरी से भरा ट्रैक्टर खाली होने जा रहा था।

हकीकत...

पुलिस थानों के सामने से रोज गुजर रहे हैं बजरी डंपर

10 से 12 डंपर और ट्रैक्टर रोजाना रामगंज थाने के सामने हो रहे हैं खाली।

सराधना, आंबा, मसीनिया

डूमाड़ा, भांवता, नदी क्षेत्र

नुरियावास में हो रहा धड़ल्ले से बजरी खनन।

कॉम्पलेक्स निर्माण कर रहे रियल स्टेट से जुड़े लोगों को हो रही है बजरी सप्लाई।

रेत माफिया के खिलाफ ‘भास्कर’ का हल्लाबोल

7 अगस्त को प्रकाशित खबर।

खबरें और भी हैं...