पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • 7 और डॉक्टरों को पीजी डिप्लोमा कराएगी सरकार

7 और डॉक्टरों को पीजी डिप्लोमा कराएगी सरकार

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अलवर | सरकार जिला अस्पताल में 7 और डॉक्टरों को 2 साल का पीजी डिप्लोमा कराएगी। फिजिशियंस और सर्जन्स कॉलेज मुंबई (सीपीएस मुंबई) की ओर से डिप्लोमा कोर्स के लिए 3 सेवारत और 4 गैर सेवारत डॉक्टरों का डीसीएच, डीडीवी, डीजीओ, डीजीएम, डीएमआरई, ऑर्थोपेडिक विशिष्टता में डिप्लोमा के लिए चयन किया गया है। ये डॉक्टर आवंटित जिला अस्पताल में 9 अगस्त तक मूल दस्तावेजों सहित पीएमओ के समक्ष उपस्थिति देंगे। 10 अगस्त से डिप्लोमा बैच शुरू हो जाएगा। इस संबंध में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के निदेशक डॉ. वीके माथुर ने आदेश जारी किए हैं। जिला अस्पताल के लिए गैर सेवारत डॉ. राकेश कुमार को डिप्लोमा इन मेडिकल रेडियोलॉजी एंड इलेक्ट्रोलॉजी, डॉ. अनीश अहमद को डिप्लोमा इन ऑर्थोपेडिक, डॉ. शीबा को डिप्लोमा इन गाइनोकोलॉजी एंड ऑब्सटेट्रिक्स और डॉ. सादरे आलम को डिप्लोमा इन चाइल्ड हेल्थ के लिए चयनित किया है। इसी प्रकार सरकारी डॉक्टर कारोली पीएचसी के डॉ. ब्रह्मजीत को डिप्लोमा इन वेनोरोलॉजी एंड डर्माटाइटिस, रामगढ़ सीएचसी के डॉ. अवनीश शर्मा को डिप्लोमा इन जीरियाट्रिक्स मेडिसन और सीकरी भरतपुर सीएचसी के जगदीश प्रसाद यादव को डिप्लोमा इन चाइल्ड हेल्थ के लिए चयनित किया है। उल्लेखनीय है कि जिला अस्पताल के सर्जरी, गायनी, मेडिसन आदि विभागों में पहले से ही डिप्लोमा कोर्स कराए जा रहे हैं।

मरीजों को मिलेगी सुविधा

डिप्लोमा करने आ रहे डॉक्टरों से ओपीडी और इनडोर मरीजों की चिकित्सा व्यवस्था सुदृढ़ होगी। ये जिस विभाग में डिप्लोमा करेंगे, वहां ओपीडी और इनडोर वार्डों में भी मरीजों का इलाज करेंगे। इससे डॉक्टरों की कमी की समस्या से कुछ राहत मिलेगी।

खबरें और भी हैं...