पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • हड़मतिया में घरों के बाहर लटका दिए मीटर, 6 माह में भी नहीं पहुंची बिजली

हड़मतिया में घरों के बाहर लटका दिए मीटर, 6 माह में भी नहीं पहुंची बिजली

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बांसवाड़ा/चिड़ियावासा। डिस्कॉम के अभियंताओं और ठेकेदार की ढीली कार्य शैली के कारण दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना का लाभ जिले की गरीब आदिवासी जनता को नहीं मिल पा रहा है। जिसका उदाहरण तेजपुर ग्राम पंचायत के हड़मतिया गांव में देखा जा सकता है। जहां क्षेत्र के ग्रामीण मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का बुधवार सुबह बस स्टैंड पर स्वागत करेंगे। बिजली कनेक्शन की इस योजना में जिन लोगाें ने कनेक्शन के लिए आवेदन दिए हैं, उनके करीब एक दर्जन से अधिक घरों में मीटर लटके हुए हैं और बिजली का कनेक्शन चालू नहीं किया गया है। लोगों को अभियंताओं और ठेकेदार की ढीली कार्य शैली के कारण पात्र होते हुए भी योजना के लाभ से वंचित होना पड़ रहा हैं। जबकि क्षेत्र के लोगों द्वारा आवेदन किए छह माह से अधिक का समय बीत चुका है। गांव में छह माह पूर्व खंभे डालकर बिजली लाइन भी खींच ली गई है और घरों के बरामदों में दीवारों पर मीटर भी लगा देने के बाद अब तक इनके घरों में बिजली सप्लाई नहीं दी गई है। जिससे इस क्षेत्र में रहने वाले लोगों को हर समय जंगली जानवरों के हमले का डर बना रहता है। वास्तव में ये पैंथर के विचरण का क्षेत्र भी माना जाता है। जिसका कारण इस गांव का जंगल और पहाड़ी क्षेत्रों से सटा होना है। इस क्षेत्र में आए दिन पैंथर हमले करते हैं और पशु,बकरियों और लोगों पर हमला कर देते हैं। पिछले पांच वर्षों में क्षेत्र छह लोग पैंथर द्वारा हमला करने से घायल हुए हैं। ग्रामीण भाजपा किसान मोर्चा के मंडल महामंत्री दिनेश डामोर, मोतिया, विजेश, रामा, हकरू, तोलिया, दूधजी, शंभु नाथू, वागजी आदि ने बताया कि कई बार इस संबंध में विभाग के अधिकारियों को बताया जा चुका है। साथ ही प्रशासन गांवों के संग अभियान में ये मुद्दा जिला अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों के सामने उठाया जा चुका है, लेकिन हालात ढाक के तीन पात वाले ही हैं।

तेजपुर ग्राम पंचायत के हड़मतिया गांव में दीवारों पर शो पीस बनकर लटके मीटर।

खबरें और भी हैं...