पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • दो साल से बंद पड़े रोडवेज के 10 सीसीटीवी कैमरे फिर चलने लगे

दो साल से बंद पड़े रोडवेज के 10 सीसीटीवी कैमरे फिर चलने लगे

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
केन्द्रीय रोडवेज परिसर में यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए दो वर्ष पूर्व 10 सीसीटीवी कैमरे लगवाए गए थे। लेकिन कुछ दिन चलने के बाद ही यह कैमरे बंद हो गए। मुख्य प्रबंधकों ने इस कार्य में रूचि नहीं दिखाई इसलिए तब से सीसीटीवी कैमरे बंद पड़े हुए थे। हालांकि छह माह तक एक कैमरा चालू रहा। बाद में यह भी बंद हो गया।

अब दोनों डिपो का एक ही मुख्य प्रबंधक आ जाने के बाद इन कैमरों को चालू कराने में सही करा दिया है। अब यह फिर से चलने लगे हैं। केन्द्रीय बस स्टैंड परिसर में आए दिन यात्रियों की जेब तराशने का कार्य जोर शोर से चल रहा था। प्रतिदिन एक न एक यात्री की जेबें कट जाती थीं। यात्री सीसीटीवी कैमरे की फुटेज मांगते तो कैमरा ही बंद थे। इस कारण यात्री अपनी रिपोर्ट भी दर्ज नहीं करा पा रहे थे।

भरतपुर. केन्द्रीय बस स्टैंड में लगे हुए सीसीटीवी कैमरे।

केन्द्रीय बस स्टैंड परिसर में लगे हैं आठ कैमरे
केन्द्रीय बस स्टैंड परिसर में छह कैमरे लगे हुए हैं। एक-एक कैमरा बसों के आने जाने वाले मार्गाें पर लगाए गए थे, जिससे बसों का संचालन का समय मुख्य प्रबंधक अपने कार्यालय में से ही नजर रख सकें। सीसीटीवी कैमराें का संचालन हो जाने के कारण आए दिन यात्रियों का सामान गायब हो जाना जैसी घटना का जल्द खुलासा हो सकेगा।

लंबे समय से सीसीटीवी कैमरे बंद पड़े हुए थे। इनको चार पांच दिन पूर्व ही सही कराकर संचालित कराया है। अब सीसीटीवी कैमरों ने अपना काम प्रारंभ कर दिया है। बस स्टैंड पर होने वाले अपराध की पड़ताल में इससे सहायता मिलेगी। -खेम सिंह, मुख्य प्रबंधक लोहागढ़-भरतपुर आगार डिपो

खबरें और भी हैं...