पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bikaner
  • 15 लाख रुपए की डकैती में राजू ठेहट के गुर्गे का हाथ छह अभियुक्तों में से तीन अभियुक्त गिरफ्तार

15 लाख रुपए की डकैती में राजू ठेहट के गुर्गे का हाथ छह अभियुक्तों में से तीन अभियुक्त गिरफ्तार

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कैमल फार्म से आगे कोटड़ी रोड पर इनोवा गाड़ी में सवार महिला और उसके परिजनों से मारपीट कर 15 लाख रुपए की डकैती की वारदात को राजू ठेहट गैंग के गुर्गे और उसके साथियों ने योजना बनाकर अंजाम दिया था। पुलिस ने वारदात में शामिल छह में से तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया है।

एसपी सवाईसिंह गोदारा ने बताया कि नोखा में उगमपुरा निवासी किरण कंवर 24 मार्च को अपने परिजनों के साथ इनोवा गाड़ी में सवार होकर कोर्ट परिसर से नापासर थाना क्षेत्र के मोखमपुरा गांव स्थित पीहर जाने के लिए रवाना हुई थी। रास्ते में कोटड़ी गांव के पास बोलेरो गाड़ी में सवार छह लोगों ने उनकी गाड़ी रुकवाई। लाठियां हाथ में लिए अभियुक्तों ने मारपीट की और 15 लाख रुपयों से भरा बैग छीनकर फरार हो गए थे। राजू ठेहट गैंग के गुर्गे तिलक नगर निवासी अरुण जांदू ने योजना बनाकर वारदात को अंजाम दिया था। कोर्ट परिसर में उसे महिला के पास 15 लाख रुपए होने की जानकारी मिली तो उसने चौधरी कॉलोनी निवासी तोलाराम जाट और गणेशाराम जाट को बुलाया। रेवंतराम जाट, जेठाराम जाट और श्रवण चौधरी भी इनके साथ कोर्ट पहुंच गए। महिला किरण कंवर और उसके परिजन कोर्ट से इनोवा गाड़ी में रवाना हुए तो पांच अभियुक्त नई बोलेरो गाड़ी में सवार होकर उनका पीछा करने लगे। अरुण कोर्ट में ही रुक गया था। कोटड़ी गांव के पास अभियुक्तों ने इनोवा रुकवाई और मारपीट कर 15 लाख रुपए छीनकर फरार हो गए थे। पुलिस ने डकैती के इस मामले में अरुण जांदू, रेवंतराम जाट और श्रवण चौधरी को गिरफ्तार किया है। श्रवण से 20,675 रुपए भी बरामद किए गए हैं। शेष तीन अभियुक्त फरार हैं जिनकी तलाश की जा रही है। श्रवण बाल अपचारी है जिसे किशोर गृह भेजा गया है।

पुलिस की गिरफ्त में डकैती करने के अभियुक्त।

अभियुक्त आदतन अपराधी हैं, अरुण की खुलेगी हिस्ट्रीशीट
वारदात में शामिल अभियुक्त आदतन अपराधी हैं। उनके खिलाफ पूर्व में पुलिस थानों में मुकदमे दर्ज हैं। पुलिस के मुताबिक राजू ठेहट गैंग के गुर्गे अरुण जांदू के खिलाफ पुलिस थानों में गंभीर प्रवृत्ति के छह मुकदमे दर्ज हैं। उसकी हिस्ट्रीशीट खोली जाएगी। तोलाराम और गणेशाराम भी आदतन अपराधी हैं। मार्च, 17 में इन्होंने बम्बलू में पेट्रोल पंप और नौरंगदेसर व गंगाशहर में शराब की दुकानें लूटी थीं। फायरिंग भी की थी। सभी अभियुक्तों का आपराधिक रिकॉर्ड खंगाला जा रहा है।

कोर्ट में अरुण को मिली थी 15 लाख रुपयों

की जानकारी
नोखा के उगमपुरा गांव निवासी महिला ने 13 मार्च को दो लोगों के खिलाफ दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज करवाया था। 24 मार्च को महिला के कोर्ट में मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान हुए। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक दुष्कर्म के मुकदमे में महिला और आरोपियों के बीच आपस में समझौता हुआ और उसके बाद महिला 15 लाख रुपए लेकर इनोवा गाड़ी में अपने परिजनों के साथ मोरखाना गांव अपने पीहर जा रही थी। रास्ते में उसके साथ लूट की वारदात हो गई। अभियुक्त अरुण को कोर्ट परिसर में 15 लाख रुपयों की जानकारी मिल गई थी। उसने योजना बनाई और वारदात को अंजाम दिया।

बरसिंगसर में बांट लिए डकैती के रुपए
वारदात को अंजाम देने के बाद पांचों अभियुक्त बरसिंगसर पहुंचे। अरुण जांदू भी वहां पहुंच गया। सभी अभियुक्तों ने डकैती के बंटवारा किया और फरार हो गए। वारदात को अंजाम देने जाते समय अभियुक्तों की बोलेरो गाड़ी इनोवा का पीछा करते हुए पवनपुरी में बीकानेर नर्सिंग होम से गुजरी थी। पुलिस ने वहां लगे सीसी टीवी कैमरों से फुटेज लिए और बोलेरो गाड़ी का पता लगाया। छानबीन करने पर अभियुक्त नामजद हो गए जिनमें से तीन को दबोच लिया।

इन पुलिसकर्मियों ने वारदात ट्रेस आउट करने में की मेहनत
सीओ सदर राजेन्द्रसिंह राठौड़ की देखरेख में व्यास कॉलोनी थाना एसएचओ हरजिन्द्रसिंह, एसआई रामप्रताप गोदारा, हेड कांस्टेबल अब्दुल सत्तार, जगदीश प्रसाद बिश्नोई, लक्ष्मण, कांस्टेबल सवाईसिंह व अनिल कटैवा तथा साइबर सैल कांस्टेबल दीपक यादव

खबरें और भी हैं...