पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bikaner
  • अब से वाहनों का ऑनलाइन प्रदूषण सर्टिफिकेट ही मान्य

अब से वाहनों का ऑनलाइन प्रदूषण सर्टिफिकेट ही मान्य

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
परिवहन विभाग ने प्रदूषण नियंत्रण प्रमाण पत्र जारी करने वाले केंद्रों को अब ऑनलाइन सर्टिफिकेट जारी करने के लिए पाबंद किया है। ऑफलाइन जारी किए गए सर्टिफिकेट को अब माना नहीं जाएगा। यह व्यवस्था विभाग ने जिले में शुक्रवार से शुरू कर दी है। जयपुर में केंद्रों को ऑनलाइन रजिस्टर्ड करने की प्रकिया पहले से है। बीकानेर में यह व्यवस्था चार महीने देरी से शुरू हुई है। वर्तमान में प्रादेशिक परिवहन विभाग के बीकानेर, श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़, नोखा, नोहर में वाहनों को प्रदूषण नियंत्रण सर्टिफिकेट जारी करने वाले 71 केंद्र हैं। बीकानेर जिले में इन केंद्रों की संख्या 20 है। गौरतलब है कि प्रदूषण नियंत्रण प्रमाण पत्र का तय समयावधि में नवीनीकरण नहीं कराने पर फीस के साथ पेनल्टी राशि के भुगतान का प्रावधान है।

ऑनलाइन सिस्टम बताएगा सारा रिकार्ड
वर्तमान में वाहनों को प्रदूषण नियंत्रण का सर्टिफिकेट जारी करने वाले केंद्र वाहनों की फोटो खींचने के साथ मालिक से सारी डिटेल लेते है। फिर कंप्यूटर में फीड करके विभाग को अपलोड करवाते है। केंद्र के ऑनलाइन रजिस्टर्ड होने के बाद सारा डाटा सर्वर के जरिए विभाग तक पहुंचेगा। वाहन के नंबर डालते ही बीमा, फिटनेस तक की जानकारी कंप्यूटर पर दिखाई देगी। विभाग चाहता है कि ज्यादा से ज्यादा केंद्र ऑनलाइन रजिस्टर्ड हो ताकि वाहन मालिकों को सर्टिफिकेट बनवाने में आसानी रहे।

प्रदूषण जांच दर की फीस
पेट्रोल के दुपहिया वाहन 50 रुपए

तिपहिया और चौपहिया वाहन पेट्रोल, एलपीजी, सीएनजी 70 रुपए

डीजल वाहन 100 रुपए

यूं लगेगी पेनल्टी

दुपहिया वाहन- 200, उसके बाद 500

चौपहिया वाहन- एक महीने तक 500, उसके बाद एक हजार रुपए

नवीनीकरण में जरूरी

पॉल्यूशन जांच व प्रमाण पत्र नवीनीकरण में वाहन का फोटो खींचा जाता है। उसकी अन्य डिटेल सॉफ्टवेयर में डाली जाती है। मालिक के नाम आदि की भी जानकारी मांगी जाती है।

अब से ऑनलाइन

सर्टिफिकेट ही मान्य
वाहन प्रदूषण सर्टिफिकेट जारी करने वाले केंद्रों से अब ऑनलाइन जारी हुए सर्टिफिकेट ही मान्य होंगे। ऑफलाइन सर्टिफिकेट मान्य नहीं होगा। वाहन प्रदूषण जांच के समय वाहन की आरसी व खरीद का बिल प्रस्तुत करना जरूरी नहीं है। राजेश शर्मा, डीटीओ, बीकानेर।

परिवहन विभाग ने प्रदूषण नियंत्रण प्रमाण पत्र जारी करने वाले केंद्रों को दी हिदायत
खबरें और भी हैं...