पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Bilaspur
  • कंडम वैन में बिना सुरक्षा के हो रही दवाओं की सप्लाई, स्टोर रूम में भी फैली है अव्यवस्था

कंडम वैन में बिना सुरक्षा के हो रही दवाओं की सप्लाई, स्टोर रूम में भी फैली है अव्यवस्था

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
स्वास्थ्य विभाग के जिम्मेदार अिधकारी सीएमएचओ दफ्तर में दवाओं को सहेजने में लापरवाही बरत रहे हैं। यहां के स्टोर रूम में पहले भी मेडििसन में गड़बड़ी की बात सामने आ चुकी है। इसके बावजूद जिम्मेदार अफसर इसकी अनदेखी कर रहे हैं। सरकार की कई योजनाएं यहां से संचालित हो रही हैं, जिनमें भी लगातार लापरवाही का खुलासा हो रहा है। सीएमएचओ का कहना है कि यहां अव्यवस्था जैसी कोई बात नहीं है।

सीएमएचओ दफ्तर के स्टोर में चेचक, पीतज्वर, पोलियाे विरोधी और इंफ्लूएंजा निरोधी दवाइयों के ढेर रखे हैं, पर कोई मॉनिटरिंग करने वाला नहीं है। जिन अिधकारियों की यहां ड्यूटी लगाई गई है वे घंटों गायब होते हैं। दवाओं को ठंडा रखने के लिए फ्रीज का इस्तेमाल जरूरी है, लेकिन यह फ्रिज घंटों बंद रहती है। फिजीशियन के मुताबिक दवाओं को 0 से 8 डिग्री तापमान अनिवार्य है। ऐसा नहींं करने पर मेडिसीन की गुणवत्ता पर असर पड़ता है और टीके लगाने के बाद दोबारा बीमारी सामने रही है। यहां कंडम वाहन से दवाओं की सप्लाई की जा रही है। इसमें भी जरूरी संसाधनों का अभाव है। मामले में सीएमएचओ डॉ. बीबी बोेर्डे का कहना है कि उनके यहां ऐसी कोई दिक्कत नहीं है।

स्वास्थ्य विभाग परिसर में रखी कंडम वैन। इसमें बड़े पैमाने पर सीरिंज और दवाएं सप्लाई हो रही है।

पेंड्रा, गौरेला के स्वास्थ्य केंद्रों में बिजली बंद, खराब हो रही दवा

पेंड्रा,गौरेला और मरवाही के सामुदाियक स्वास्थ्य केंद्रों में बिजली बंद होने की समस्या के कारण वैक्सीन खराब हो रही है। कुछ दवा एक्सपर्ट के मुताबिक तीन घंटे से अिधक बिजली गुल होने पर इनका असर कम हो जाता है, जबकि यहां घंटों बिजली बंद रहती है। ऐसे में सामुदायिक केंद्र इन्हीं दवाओं का इस्तेमाल कर लापरवाही बरत रहे हैं।

ड्रग विभाग की जांच में सामने आ चुकी है गड़बड़ी, फिर भी बरत रहे लापरवाही

सीएमएचओ दफ्तर के स्टोर रूम में पहले भी एक्सपायर्ड दवाओं को रखने का खुलासा हो चुका है। भास्कर की खबर के बाद किसी गड़बड़ी की आशंका से पहले इन्हें हटा ली गई। यहां स्टोर रूम में बड़े पैमाने पर एक्सपायर्ड दवाएं सामान्य दवाओं के साथ पाई गईं, जिसे ड्रग इंस्पेक्टर ने पकड़ा लिया और अधिकारी को पत्र भेजकर अव्यवस्था सुधारने को कहा गया। इसके बाद हालात सुधारे गए।

खबरें और भी हैं...