पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Bilaspur
  • आरोपियों के परिजन थाने से छूटे, नंदवानी के परिवार को मिल रहीं धमकियां

आरोपियों के परिजन थाने से छूटे, नंदवानी के परिवार को मिल रहीं धमकियां

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सिविल लाइन पुलिस थाना क्षेत्र में आने वाले सिंधी कॉलोनी में शनिवार की देर रात युवक की हत्या करने के बाद फरार हुए आरोपियों के परिजनों को पुलिस ने मंगलवार की शाम छोड़ दिया। पुलिस थाने से छूटते ही परिजनों ने कॉलोनी में पहुंचकर उन लोगों को धमकाना और लालच देना शुरू कर दिया है जो इस मामले में जुड़े हुए हैं। पता तो यह भी चला है कि जो मुख्य गवाह है उसे केस से पीछे हटने के लिए आरोपियों के परिजनों ने लाखों रुपए देने की बात कही है। वहीं जो अन्य लोग हैं उन्हें भी चेताया जा रहा है कि मुंह खोला तो ठीक नहीं होगा। दूसरी तरफ खबर यह भी आ रही है कि आरोपियों में से एक ने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया है अौर कहा है कि हत्या की वारदात में वह शामिल नहीं था। हालांकि पुलिस ने इसकी पुष्टि नहीं की है।

अमित नंदवानी उर्फ पुच्ची की हत्या सिंधी कॉलोनी में शनिवार की रात 10:30 बजे उसी के दोस्तों ने कर दी थी। अमित आत्म हत्या के लिए मजबूर करने के आरोप में जेल में बंद था और शनिवार की रात 8:30 बजे ही जेल से जमानत पर छूटकर आया था। पार्टी करने के नाम पर अमित को सिंधी कॉलोनी बुलाया गया जहां उसकी हत्या कर दी गई। हत्या के इस मामले में परिजनों ने सूरज करतारी, विशाल थावरानी, सन्नी थावरानी, सागर थावरानी, लखन ढीमर तथा सुनील तनरेजा के नाम लिखाए हैं। हत्या के बाद से ही यह सभी आरोपी अपने घरों से फरार हैं। आरोपियों का सरेंडर कराने के लिए पुलिस ने वारदात की रात से ही इनके परिजनों को थाने में बैठा रखा था। मंगलवार को जब परिजनों ने पुलिस को यह आश्वासन दिया कि वह सभी का सरेंडर 2 से 3 दिन में करवा देंगे तो पुलिस ने शाम को छोड़ दिया। इसके बाद से ही आरोपियों के परिजन कॉलोनी में जाकर दबाव बना रहे हैं कि किसी ने अगर केस के संबंध में कुछ बोला तो ठीक नहीं होगा।

आरोपी पुलिस पकड़ से दूर, पुलिस बस कह रही जल्द पकड़ लेंगे

लखन ढीमर ने किया सरेंडर

वहीं देर रात खबर यह भी आ रही है हत्या के मामले में आरोपी बनाए गए लखन ढीमर ने पुलिस के समक्ष सरेंडर कर दिया है। लखन ढीमर ने पुलिस को यह भी बताया है कि वारदात में वह शामिल नहीं था तथा कुछ लोगों के कहने पर एफआईआर में उसका भी नाम लिखवा दिया गया है। हालांकि पुलिस ने इस बात से साफ इंकार कर दिया है कि लखन ढीमर ने सरेंडर किया है।

अभी तक एक भी आरोपी नहीं पकड़ा है

हत्या के मामले में फरार चल रहे आरोपियों में से एक भी आरोपी पकड़ में नहीं आया है। पुलिस पार्टियां आरोपियों के पीछे हैं और जगह-जगह दबिश दे रही हैं। जल्द ही सभी आरोपी पुलिस की पकड़ में होंगे। - नीरज चंद्राकर, एएसपी, सिटी

राडार में नहीं आ पा रहे आरोपी

अमित नंदवानी की हत्या के मामले में नामजद किए गए आरोपियों के फरार होने के बाद पुलिस की सारी मशक्कत बेकार ही साबित हो रही है। पुलिस की तीन पार्टी आरोपियों की तलाश में जुटी हैं। लेकिन आरोपी पुलिस से दो कदम आगे चल रहे हैं। जहां भी पुलिस सूचना के बाद दबिश दे रही है वहां पर आरोपियों तक पुलिस से पहले सूचना पहुंच रही है। जिससे पुलिस के पहुंचने से पहले ही आरोपी आगे निकल जा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...