पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • शिलान्यास, उद्घाटन कार्यक्रम में बुलाना होगा निर्वाचित जनप्रतिनिधि को

शिलान्यास, उद्घाटन कार्यक्रम में बुलाना होगा निर्वाचित जनप्रतिनिधि को

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
शिलान्यास, उद्घाटन कार्यक्रम में बुलाना होगा निर्वाचित जनप्रतिनिधि को

जयपुर | राज्य के किसी भी क्षेत्र में राजकीय भवनों के शिलान्यास, उद्घाटन और लोकार्पण के राजकीय कार्यक्रमों में स्थानीय सांसद, विधायक, जिला प्रमुख, प्रधान, मेयर, सभापति, अध्यक्ष, सरपंच सहित सभी निर्वाचित जन प्रतिनिधियों को आवश्यक रूप से आमंत्रित किया जाएगा। ऐसा न करने पर संबंधित विभाग के अफसरों को दोषी माना जा सकता है। उस अफसर के खिलाफ अनुशासनिक कार्रवाई भी की जाएगी। इतना ही नहीं बल्कि विधानसभा के विशेषाधिकार हनन का दोषी भी माना जाएगा। इसको लेकर प्रशासनिक सुधार विभाग की ओर से पांच अप्रैल को ताजा आदेश जारी किया गया है।

जनसंपर्क अधिकारियों ने शहीद स्मारक पर मोमबत्ती जलाकर जताया विरोध

जयपुर | राज्य सरकार के जनसंपर्क अधिकारियों ने सेवाओं में सुधार के लिए अपनी विभिन्न मांगों पर ध्यानाकर्षण करने के लिए शुक्रवार शाम को पुलिस आयुक्तालय के सामने शहीद स्मारक पर मोमबत्ती जलाकर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन में जनसंपर्क सेवा में उच्चाधिकारियों के नकारात्मक रवैये की आलोचना की गई। प्रसार के अध्यक्ष सीताराम मीणा ने बताया कि विभाग के उच्च अधिकारियों द्वारा काम करने के लिए सकारात्मक माहौल बिगाड़ा जा रहा है। विभाग में पदोन्नति, नए पदों पर भर्ती एवं कैडर विस्तार की कार्यवाही को भी जानबूझकर बाधित किया जा रहा है।

200 फीट रोड से एक इंच भी भूमि कम नहीं कर सकेगा भिवाड़ी यूआईटी

जयपुर | औद्योगिक नगरी भिवाड़ी की लाइफ लाइन माने जाने वाले 200 फीड बाईपास रोड की चौड़ाई कम करने से सरकार ने इंकार कर दिया है। यूडीएच एसीएस मुकेश शर्मा की अध्यक्षता में हुई बैठक में भिवाड़ी यूआईटी अधिकारियों को आदेश दिए गए कि भिवाड़ी को अलवर और दिल्ली से जोड़ने वाली यह 200 फीट (60 मीटर) चौड़ी प्रमुख रोड है। इसकी चौड़ाई में एक इंच भी कमी करने की इजाजत नहीं दी सकती। रोड के लिए ली गई जमीन का क्या मुआवजा देना है और कैसे देना है, यह यूआईटी का मामला है।

ओडीएफ की तर्ज पर शिक्षा विभाग में चलेगा डीओएफ कार्यक्रम

जयपुर| ओडीएफ की तर्ज पर अब पंचायतें ड्राप आउट फ्री (डीओएफ) घोषित होंगी। इसके लिए मई से अगस्त तक स्कूलों में नामांकन वृद्धि एवं ठहराव के लिए अभियान चलाया जाएगा। यह जानकारी शिक्षा राज्यमंत्री वासुदेव देवनानी ने दी। उन्होंने कहा कि इस शिक्षा सत्र की वार्षिक परीक्षाओं के समापन के साथ ही विद्यालयों में इसके लिए अभियान चलाया जाएगा।

खबरें और भी हैं...