पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • अतिथि शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया में लापरवाही : नियुक्ति के बाद भी लैब अटेंडेंट पद पर नहीं दी जा रही ज्वाइनिंग

अतिथि शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया में लापरवाही : नियुक्ति के बाद भी लैब अटेंडेंट पद पर नहीं दी जा रही ज्वाइनिंग

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जिले के सरकारी स्कूलों में अतिथि शिक्षकों की ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया के बाद पात्र अतिथि शिक्षकों को स्कूलों में ज्वाइनिंग दी जा रही है। लेकिन प्राचार्यों की मनमानी के कारण लैब अटेंडेंट (प्रयोगशाला परिचालक) पद पर नियुक्त होने वाले अतिथि शिक्षकों को इस प्रक्रिया से अलग कर दिया गया गया है। जब ऑनलाइन प्रक्रिया के तहत जिले भर में दो दर्जन से अधिक स्कूलों में लैब अटेंड के पद पर नियुक्ति के लिए सूची जारी की गई है। मामले की शिकायत कलेक्टर व सीएम हेल्पलाइन में की गई है।

आवेदक कपिल खरे ने कहा कि ऑनलाइन प्रक्रिया के तहत पोर्टल पर जो पद स्वीकृत हो रहे थे, उसके अनुसार उन्होंने आवेदन किया था। जिसके तहत समन्ना हाई स्कूल लैब अटेंडेंट के पद पर उनका चयन हुआ है। जिसके बाद वह शनिवार को ही अपने समस्त दस्तावेज लेकर स्कूल में पहुंचकर अपनी ज्वाइनिंग दे चुके हैं, लेकिन सोमवार को वह पुन: स्कूल पहुंचे तो जिस पद पर तुम्हारी नियुक्ति हुई है वह आऊटसोर्सिंग एजेंसी के माध्यम से भरे जाएंगे। इसके बाद जब वह संकुल प्राचार्य बीडी अहिरवार के पास पहुंचे तो उन्होंने कहा कि तुम्हारा पद अशैक्षणिक है। इसलिए चयन रोक दिया गया है। वहीं लिपिक प्रभात सिंह राजपूत का कहना है कि मैं कुछ नहीं कर सकता। जो भी समस्या है कलेक्टर के पास जाओ, जहां शिकायत करना है कर दो। आवेदक ने आरोप लगाया कि जानबूझकर प्रयोगशाला सहायकों को परेशान किया जा रहा है।





उत्कृष्ट विद्यालय में प्राचार्य ने मनमाने तरीके

से कर ली भर्ती

शहर के उत्कृष्ट विद्यालय दमोह में अतिथि शिक्षकों की नियुक्ति में गड़बड़ी सामने आई है। इस मामले में आवेदक प्रकाश गुप्ता ने कलेक्टर को आवेदन देकर बताया कि उत्कृष्ट विद्यालय, जेपीबी व एमएलबी स्कूल में अतिथि शिक्षकों की रिक्त स्थान होने के बाद भी ऑनलाइन शो नहीं कर रही हैं। क्योंकि इन स्कूलों में प्राचार्यों द्वारा पहले से ही अपने चहेते लोगों काी भर्ती की जा चुकी है। यदि पूरे मामले की जांच कराई जाए तो गड़बड़ी सामने आ जाएगी।

Ãअतिथि शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया के संबंध में जो भी गड़बड़ी सामने आ रही हैं, इसको लेकर कल ही डीईओ को बुलाकर चर्चा करता हूं। जहां से भी गड़बड़ी की शिकायत मिलेगी, उसकी जांच कराई जाएगी।- डॉ. जे विजय कुमार, कलेक्टर

भास्कर संवाददाता | दमोह

जिले के सरकारी स्कूलों में अतिथि शिक्षकों की ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया के बाद पात्र अतिथि शिक्षकों को स्कूलों में ज्वाइनिंग दी जा रही है। लेकिन प्राचार्यों की मनमानी के कारण लैब अटेंडेंट (प्रयोगशाला परिचालक) पद पर नियुक्त होने वाले अतिथि शिक्षकों को इस प्रक्रिया से अलग कर दिया गया गया है। जब ऑनलाइन प्रक्रिया के तहत जिले भर में दो दर्जन से अधिक स्कूलों में लैब अटेंड के पद पर नियुक्ति के लिए सूची जारी की गई है। मामले की शिकायत कलेक्टर व सीएम हेल्पलाइन में की गई है।

आवेदक कपिल खरे ने कहा कि ऑनलाइन प्रक्रिया के तहत पोर्टल पर जो पद स्वीकृत हो रहे थे, उसके अनुसार उन्होंने आवेदन किया था। जिसके तहत समन्ना हाई स्कूल लैब अटेंडेंट के पद पर उनका चयन हुआ है। जिसके बाद वह शनिवार को ही अपने समस्त दस्तावेज लेकर स्कूल में पहुंचकर अपनी ज्वाइनिंग दे चुके हैं, लेकिन सोमवार को वह पुन: स्कूल पहुंचे तो जिस पद पर तुम्हारी नियुक्ति हुई है वह आऊटसोर्सिंग एजेंसी के माध्यम से भरे जाएंगे। इसके बाद जब वह संकुल प्राचार्य बीडी अहिरवार के पास पहुंचे तो उन्होंने कहा कि तुम्हारा पद अशैक्षणिक है। इसलिए चयन रोक दिया गया है। वहीं लिपिक प्रभात सिंह राजपूत का कहना है कि मैं कुछ नहीं कर सकता। जो भी समस्या है कलेक्टर के पास जाओ, जहां शिकायत करना है कर दो। आवेदक ने आरोप लगाया कि जानबूझकर प्रयोगशाला सहायकों को परेशान किया जा रहा है।





खबरें और भी हैं...