• Home
  • Chandigarh Zilla
  • Mohali
  • Dera Bassi
  • फिल्मी चकाचौंध का शिकार 14 साल की लड़की घरवालों को बिना बताए मुंबई पहुंची
--Advertisement--

फिल्मी चकाचौंध का शिकार 14 साल की लड़की घरवालों को बिना बताए मुंबई पहुंची

फिल्मी दुनिया की चकाचौंध का शिकार होकर गांव दफ्फरपुर की रहने वाली 14 साल की लड़की मुंबई जा पहुंची। इस मामले में...

Danik Bhaskar | May 26, 2018, 02:00 AM IST
फिल्मी दुनिया की चकाचौंध का शिकार होकर गांव दफ्फरपुर की रहने वाली 14 साल की लड़की मुंबई जा पहुंची। इस मामले में किराएदार पर शक था। उसकी प|ी के बुलाने पर लड़की किराएदार को बेगुनाह साबित करने के बहाने वापस घर लौट आई। डेराबस्सी पुलिस ने लड़की को उसके मां-बाप के सुपुर्द करते हुए किराएदार दंपती के खिलाफ कानूनी कार्रवाई खारिज कर दी।

इंस्पेक्टर मोहिंदर सिंह और चंडीगढ़ ‘आप’ शाखा की को कन्वीनर मीना शर्मा ने उसे समझा कर उसके पारिवारिक सदस्यों के साथ घर भेज दिया। जानकारी मुताबिक आठवीं कक्षा में पढ़ने वाली लड़की फिल्मी दुनिया से प्रभावित होकर फिल्मों में काम करने की इच्छा से मुंबई के लिए बिना बताए रवाना हो गई थी। थाना प्रभारी महेंद्र सिंह के अनुसार उक्त लड़की के पिता घनश्याम ने 21 मई को मुबारिकपुर पुलिस में शिकायत दी कि उसकी छोटी लड़की घर से लापता है। इसके पीछे उसके किराएदार संजय का हाथ है। पुलिस ने संजय और उसके साथी सुनील को थाने बुलाकर पूछताछ की। लड़की का संजय की प|ी से बहुत प्यार था जिससे पुलिस ने हिदायत दी थी कि लड़की का कोई फोन या मैसेज आए तो उस बारे में वह तुरंत पुलिस को बताए। तीसरे दिन लड़की ने किसी अनजान व्यक्ति के फोन से संजय की प|ी को फोन करके बताया कि वह मुंबई पहुंच गई है और फिल्मों में काम करना चाहती है। उसने बताया कि उसके जाने के बाद उसका परिवार उसे ढूंढ रहा है और उसके पति संजय पर शक कर रहे हैं। इस पर संजय की प|ी ने बताया कि वह उन्हें निर्दोष साबित करने वापस आ रही है।

रास्ते से फोन पर कहा-बड़ौदा पहुंची हूं...लड़की ने बाद में उसने फोन पर जानकारी देते बताया कि वह रेलगाड़ी से बड़ौदा पहुंच चुकी हूं और शुक्रवार सुबह 10 बजे अंबाला कैंट रेलवे स्टेशन पहुंच जाएगी। फोन की लोकेशन सही पाई गई इस तरह पुलिस कर्मचारी सुबह 10 बजे अंबाला कैंट से डेराबस्सी ले आए। उन्होंने बताया कि राजस्थान मूल के परिवार में पिता रामगढ़ हेरिटेज होटल में सुरक्षा गार्ड के तौर पर नौकरी करता है। लड़की ने पुलिस थाने में बताया कि संजय और उसके पिता का आपस में बहुत प्यार होने के कारण पिता के कहने पर वह और उसकी बड़ी बहन के अलावा छोटा भाई संजय को फूफा और उसकी प|ी को बुआ कहते थे। बाद में दोनों की किसी बात को लेकर आपस में तकरार हो गई और बोलचाल बंद कर दी थी। उसने बताया कि संजय की छोटी बेटी के साथ उसका बड़ा प्यार था और उनसे बातचीत पर पाबंदी लगाने के कारण वह घर से चली गई थी।