Hindi News »Chandigarh Zilla »Mohali »Dera Bassi» माइनिंग ऑफिसर बोलीं-जीएम ने दी गालियां, बना रहे हैं प्रेशर

माइनिंग ऑफिसर बोलीं-जीएम ने दी गालियां, बना रहे हैं प्रेशर

मनोज जोशी| मोहाली manoj.joshi@dbcorp.in लेडी सिंघम के नाम से माइनिंग माफिया में खौफ पैदा करने वाली माइनिंग ऑफिसर सिमरप्रीत...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 03, 2018, 02:00 AM IST

  • माइनिंग ऑफिसर बोलीं-जीएम ने दी गालियां, बना रहे हैं प्रेशर
    +2और स्लाइड देखें
    मनोज जोशी| मोहाली manoj.joshi@dbcorp.in

    लेडी सिंघम के नाम से माइनिंग माफिया में खौफ पैदा करने वाली माइनिंग ऑफिसर सिमरप्रीत कौर ढिल्लों अपने बॉस जीएम माइनिंग टहल सिंह सेखों के व्यवहार से आहत हैं। उन्हाेंने सेखों के खिलाफ एसएसपी को शिकायत दी है कि उन्होंने ऑफिस में उन्हें एब्यूसिव लैंग्वेज में बात कर अपमानित किया। एसएसपी के निर्देश पर फेज-1 पुलिस ने जांच शुरू कर ब्यान दर्ज करने की कार्रवाई शुरू कर दी है। हालांकि शिकायत के 9 दिन बाद भी एफआईआर दर्ज नहीं की गई। वहीं एक अन्य मामले में डीसी गुरप्रीत कौर सपरा की ओर से जीएम टहल सिंह सेखों के खिलाफ कार्रवाई के लिए डायरेक्टर माइनिंग को एक महीना पहले लिखे लेटर पर भी अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई।

    माइनिंग ऑफिसर, क्लर्क और सिक्योरिटी गार्ड से दुर्व्यवहार: माइनिंग आॅफिसर सिमरप्रीत कौर ढिल्लों ने 25 मई को एसएसपी को दी शिकायत में बताया कि जब वो अपने ऑफिस में काम कर रही थीं तो जीएम टहल सिंह सेखों उनके कमरे में आए और उन्हें गालियां देते हुए एक फाइल मांगी। इसके अलावा उन्होंने ऑफिस की महिला क्लर्क और महिला सिक्योरिटी गार्ड को भी गालियां दीं। सेखों सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों पर डेराबस्सी में बंद की गई तीन माइनिंग साइट्स की रिपोर्ट मांग रहे थे। रिपोर्ट न देने पर गाली-गलौज किया गया। तीनों महिलाओं से जीएम के इस दुर्व्यवहार से आहत होकर उन्होंने सेखों के खिलाफ एसएसपी को शिकायत दी।

    काम न करने के लिए बनाया दबाव...सिमरप्रीत ने आरोप लगाया कि जब से जीएम माइनिंग टहल सिंह सेखों को पटियाला-रोपड़ जिले के साथ-साथ मोहाली का भी चार्ज मिला है, तब से वे उन्हें काम करने से रोकने के लिए प्रेशर बना रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिन लोगों के खिलाफ जांच चल रही है, उन्हें हावी कर ईमानदार कर्मचारियों को नीचा दिखाया जा रहा है। दफ्तर के समय में गालियां देना भी इसी कड़ी का हिस्सा है, ताकि डीमोरोलाइज होकर कोई आगे काम न कर सके। उन्होंने कहा कि जीएम भले ही उनके बाॅस हैं, लेकिन किसी कर्मचारी को गाली देकर बात करना या फाइल मांगना गलत है।

    एसी का कनेक्शन काटा और सरकारी गाड़ी छीनी...

    सिमरप्रीत कौर ढिल्लों ने बताया कि उन्हें लंबे समय से परेशान किया जा रहा है। उनका सारा रिकॉर्ड कब्जे में ले लिया गया है। कोई कागज नहीं दिए जाते। उन्हें परेशान करने के लिए जीएम ने खुद उनके दफ्तर में लगे एसी की लाइट काटकर उसे बंद कर दिया। सरकार की ओर से उन्हें दी गई गाड़ी छीनकर डेराबस्सी के बीएलईओ को भेज दी गई। हद उस समय हो गई, जब उन्हें मानसिक रूप से परेशान करने के लिए जीएम ने उनके कमरे में आकर उन्हें और उनकी साथी महिला कर्मचारियों को गालियां दीं।

    डीसी ने भी डायरेक्टर को लिखा था जीएम पर कार्रवाई के लिए... 3 मई को एडीसी चरणदेव सिंह मान ने जीएम माइनिंग ऑफिस के इंडस्ट्रियल एरिया फेज-5 स्थित ऑफिस में सरप्राइज चेकिंग की थी। इस दौरान ऑफिस में जीएम सेखों सहित 24 कर्मचारी गैरहाजिर पाए गए थे। माइनिंग ऑफिसर कुछ मिनट लेट थीं। जांच में एडीसी ने पाया था कि जीएम ने कई परमिशंस नियमों के खिलाफ दी हैं। इसे लेकर एडीसी की रिपोर्ट के आधार पर डीसी गुरप्रीत कौर सपरा ने डायरेक्टर माइनिंग को लेटर लिखकर जीएम सेखों के खिलाफ कार्रवाई के लिए लिखा था। जीएम सेखों के पास तीन जिलों मोहाली, रोपड़ व पटियाला के जीएम माइनिंग का चार्ज है। इसी को आधार बना कर उन्होंने गैरहाजिर होने का तर्क यह कहकर दिया कि वे पटियाला में मीटिंग में थे, इसलिए दफ्तर नहीं पहुंचे थे, जबकि यह रेड सुबह 9 बजे ऑफिस लगने के टाइम पर हुई थी। डीसी गुरप्रीत कौर सपरा ने बताया कि जो रिपोर्ट आई थी, उसके आधार पर कार्रवाई के लिए डायरेक्टर माइनिंग को लिख दिया गया था।

    4 मई को छपी थी खबर।

    सिमरप्रीत के खिलाफ लंबे समय से शिकायतें आ रही थीं। इससे आहत होकर उन्होंने पुलिस को मेरेे खिलाफ शिकायत दी है। मैंने किसी को गाली नहीं दी, बल्कि उनका व्यवहार स्टाफ के साथ ठीक नहीं है। दफ्तर के सेवादार ने भी उनके खिलाफ जातीसूचक शब्द इस्तेमाल करने की शिकायत दी हुई है। -टहल सिंह सेखों, जीएम माइनिंग मोहाली, पटियाला, रोपड़।

    जीएम ने ऑफिस में तीन महिलाअों को ऐसी गालियां निकाली हैं, जिसे मैं न तो बोलकर और न ही लिखकर बता सकती हूं। यह पूरी तरह महिलाओं के सम्मान के खिलाफ है। सेवादार से शिकायत दिलवाना जीएम के षड्यंत्र का हिस्सा है। हमने 25 मई को शिकायत दी। उसके 6 दिन बाद 31 मई को सेवादार से झूठी शिकायत दिलाई गई है। जब से ये जीएम आए हैं, तब से परेशान कर रहे हैं। -सिमरप्रीत कौर ढिल्लों, जिला माइनिंग ऑफिसर, मोहाली

  • माइनिंग ऑफिसर बोलीं-जीएम ने दी गालियां, बना रहे हैं प्रेशर
    +2और स्लाइड देखें
  • माइनिंग ऑफिसर बोलीं-जीएम ने दी गालियां, बना रहे हैं प्रेशर
    +2और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dera bassi

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×