--Advertisement--

िकसानों का आंदोलन पांचवें दिन खत्म करने का ऐलान

Dera Bassi News - किसान यूनियंस ने मंगलवार शाम पांच दिन से चली आ रही हड़ताल खत्म करने का ऐलान किया है। हालांकि पांच दिन भी हड़ताल के...

Dainik Bhaskar

Jun 06, 2018, 02:00 AM IST
िकसानों का आंदोलन पांचवें दिन खत्म करने का ऐलान
किसान यूनियंस ने मंगलवार शाम पांच दिन से चली आ रही हड़ताल खत्म करने का ऐलान किया है। हालांकि पांच दिन भी हड़ताल के कारण डेराबस्सी व लालडू में सब्जियों व फलों के साथ दूध की सप्लाई बाधित रही, परंतु शाम को हड़ताल खत्म होने से दूध, फल व सब्जी विक्रेताओं के चेहरे खिल गए, वहीं आम लोगों ने भी राहत की सांस ली है। किसान यूनियंस का कहना है कि लोगों को रोजमर्रा में पेश आ रही दिक्कतों और हड़ताल में शामिल कुछ शरारती तत्वों की शिकायतों के चलते हड़ताल खत्म की जा रही है। बता दें कि लालड़ू व डेराबस्सी में दूध सप्लाई रोकने के खिलाफ मिल्कमैन यूनियन व किसान यूनियंस के नेता आमने-सामने आ डटे थे। मिल्कमैन यूनियन समेत फल विक्रेता यूनियन ने डेराबस्सी में रोष प्रदर्शन करते हुए एसडीएम व पुलिस को शिकायत पत्र सौंपा, वहीं सब्जी मंडी बंद कराने के खिलाफ सब्जी विक्रेताओं में भी रोष बढ़ता जा रहा था। कई जगह हड़ताल के दौरान जबरन सप्लाई रोकने व नुकसान पहुंचाने की घटनाओं से बढ़ रहे तनाव के कारण पुलिस व प्रशासन हरकत में आने लगा था।

भारतीय किसान यूनियन एकता सिद्धूपुर के ब्लॉक प्रधान जसवंत सिंह कुरली, गुरपाल लेहली, गुरदेव जलालपुर, गुरचरण जौला, प्रेम राणा लालडू समेत किसान नेताओं ने कहा कि किसानों का आंदोलन पूरी तरह सफल रहा, जिसमें किसानों ने डटकर साथ दिया। हड़ताल के दौरान लोगों को दिनोंदिन बढ़ रही दिक्कतों के चलते आंदोलन समाप्त करने का फैसला किया गया है। वहीं, भारतीय किसान यूनियन लक्खोवाल के प्रधान करम सिंह बरौली, जिला उपप्रधान मनप्रीत सिंह अमलाला, हरि सिंह चडियाला, अवतार जवाहरपुर, मेजर परागपुर समेत किसानों ने भी आंदोलन समाप्त करने का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि आंदोलन मकसद लोगों से सहयोग लेकर सरकारों तक किसानों की आवाज बुलंद करना था न कि लोगों को परेशान करना था।

उन्होंने कहा कि आंदोलन में कुछ शरारती तत्वों ने शामिल होकर जोर जबरदस्ती जैसे हथकंडे अपनाकर आंदोलन समेत किसानों को बदनाम करने का प्रयास किया। उन्होंने किसानों समेत फल, सब्जी व दूध विक्रेताओं का भी सहयोग लिए धन्यवाद किया। आंदोलन खत्म होने से न केवल लोगों ने राहत की सांस ली है बल्कि दिनों दिन बढ़ रहे तनावपूर्ण माहौल के मद्देनजर पुलिस व प्रशासन को भी राहत मिली है।

लालड़ू और डेराबस्सी में दूध सप्लाई रोकने के खिलाफ मिल्कमैन यूनियन और किसान डटे थे आमने सामने

नशे की 6750 गोलियां व 80 इंजेक्शंस के साथ एक गिरफ्तार, दूसरा फरार

मटौर थाना पुलिस ने गतरात फेज-7 में एक मकान पर की रेड

क्राइम रिपोर्टर | मोहाली

मटौर पुलिस ने फेज-7 के मकान नंबर 412 में रेड कर एक युवक को नशे की दवाओं व इंजेक्शंस के साथ गिरफ्तार किया है। आरोपी की पहचान फेज-7 के एचई मकानों में रहने वाले रणजीत सिंह के रूप में हुई। इस सब का मास्टर मांइड गुरदीप सिंह उर्फ मनी फरार हो गया। आरोपी अकेला था जबकि मुलाजिम आधा दर्जन। फिर भी पुलिस आरोपी को पकड़ नहीं पाई। आरोपी के रूम के बेड पर दूसरा आरोपी रणजीत सिंह बैठा था और नशीली गोलियों के पत्ते व इंजेक्शन पड़े थे। कुछ बेड पर रखे लैपटॉप बैग में लिफाफे में बांधे हुए थे। अलग-अलग कंपनी की कुल 6750 नशीली गोलियां व 80 इंजेक्शन पकड़े गए हैं।

रणजीत सिंह को पुलिस ने मंगलवार को कोर्ट में पेश कर पुलिस रिमांड पर ले लिया है, जबकि फरार आरोपी मनी को पकड़ने के लिए पुलिस ने कुछ जगहों पर छापेमारी की है।

मंगलवार दोपहर को बकायदा पुलिस ने इस मामले को लेकर प्रैस विज्ञप्ति जारी की है। इस रेड को लीड एएसआई जसपाल सिंह कर रहे थे और उनके साथ करीब पांच मुलाजिम और थे। सूचना के आधार पर यह रेड की गई।

एक भाई और मां-बाप की हो चुकी है मौत

आरोपी गुरदीप सिंह के बारे में बताया गया कि वह खुद भी नशे लेता है और आगे सप्लाई करता है। कुछ समय पहले उसके मां-बाप की मौत हो गई थी और उसका एक छोटा भाई है, लेकिन दोनों भाइयों की आपस में बनती नहीं है। आरोपी अपने साथ पकड़े गए रणजीत सिंह के साथ यह काम करता था और फिर दवाएं बेचकर मिलने वाली राशि का आधा-आधा कर लेते थे। इसके अतिरिक्त आरोपी फेज-7 मार्केट में रेडीमेड कपड़ों की फड़ी लगाता है।

X
िकसानों का आंदोलन पांचवें दिन खत्म करने का ऐलान
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..