Hindi News »Chandigarh Zilla »Mohali »Dera Bassi» हरियाणा व चंडीगढ़ के अनट्रीटेड पानी से फैला घग्गर में प्रदूषण

हरियाणा व चंडीगढ़ के अनट्रीटेड पानी से फैला घग्गर में प्रदूषण

पंजाब के वातावरण मंत्री ओमप्रकाश सोनी ने कहा है कि पंजाब से अधिक हरियाणा व चंडीगढ़ से छोड़ा जा रहा अनट्रीटेड पानी...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 07, 2018, 02:00 AM IST

हरियाणा व चंडीगढ़ के अनट्रीटेड पानी से फैला घग्गर में प्रदूषण
पंजाब के वातावरण मंत्री ओमप्रकाश सोनी ने कहा है कि पंजाब से अधिक हरियाणा व चंडीगढ़ से छोड़ा जा रहा अनट्रीटेड पानी घग्गर नदी को जहरीला बनाने का काम कर रहा है। इनमें सुखना चो में निकायों व उद्योगों का पानी भी शामिल है। तंदरूस्त पंजाब प्रोजेक्ट के तहत मंत्री सोनी डेराबस्सी के निकट भांकरपुर में घग्गर नदी में फैल रहे प्रदूषण का जायजा लेने बुधवार शाम को आए थे। उनके साथ पंजाब प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के चीफ एन्वायर्नमेंट इंजीनियर गुलशन राय, एक्सीयन लवनीत दूबे और एसडीओ गुरशरण गर्ग भी थे।

घग्गर पुल के नीचे नदी में सरेआम बह रहे झाग वाले पानी से उठ रही दुर्गंध से मंत्री व उनका स्टाफ भी परेशान हो गया। उन्होंने मौके पर बोर्ड के अधिकारियों से नदी में फैले प्रदूषण की डीटेल रिपोर्ट ली। बाद में मीडिया से बातचीत में ओपी सोनी ने कहा कि मामला गंभीर है। परंतु लोगों को एक महीने के भीतर प्रदूषण की रोकथाम में सकारात्मक बदलाव देखने को मिलेंगे।

हरियाणा व चंडीगढ़ प्रशासन को पत्र लिखकर उन्हें प्रदूषण रोकने की अपील की जाएगी। वहीं, डेराबस्सी में रसायनिक उद्योग, क्रशर उद्योगों, पोल्ट्री फार्म्स व मीट प्लांटों पर नकेल कसी जाएगी। उन्हेें बताया गया है कि बड़े उद्योगों में एफ्लुएंट ट्रीटमेंट प्लांट (ईटीपी) तो हैं, परंतु खर्चे की फिक्र में ज्यादातर प्लांटों में इन्हें चलाया नहीं जाता।

हलके में ईटीपी व एसटीपी का इस्तेमाल यकीनी बनाएंगे-सोनी: मंत्री ने कहा न केवल ईटीपी चलाना यकीनी बनाया जाएगा, बल्कि उसका पानी किसानों के खेतों की सिंचाई लायक बनाकर इस्तेमाल किया जाएगा। यह भी बताया गया कि कुछ फैक्ट्रियां टैंकरों की मदद से अपना गंदा पानी बाहर भेजती हैं। जिन्हें चोरी छिपे हलके के नदी नालों में गिरा दिया जाता है। ओपी सोनी ने कहा कि उद्योगों को प्रदूषण नियमों के मुताबिक ही चलना होगा, वरना उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उन्हें बताया गया है कि जीरकपुर में एसटीपी की क्षमता कहीं कम है। जबकि डेराबस्सी व लालडू में एसटीपी अभी तक चालू नहीं हो सके हैं। मंत्री ने कहा िक लालडू वाला एसटीपी इसी महीने चालू हो जाएगा। निकायों में सीवर ट्रीटमेंट प्लांट (एसटीपी) का इस्तेमाल यकीनी बनाया जा रहा है।

डेराबस्सी में घग्गर नदी के प्रदूषण का जायजा लेते वातावरण मंत्री ओपी सोनी व टीम।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dera bassi

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×