Hindi News »Chandigarh Zilla »Mohali »Dera Bassi» सुसाइड करने वाले लड़़के की हुई पहचान, 9वीं का स्टूडेंट था

सुसाइड करने वाले लड़़के की हुई पहचान, 9वीं का स्टूडेंट था

अंबाला-कालका रेलमार्ग पर घग्गर रेलवे पुल के नजदीक शनिवार देर रात पटरी पर सिर रखकर सुसाइड करने वाले लड़के की शिनाख्त...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 12, 2018, 02:00 AM IST

अंबाला-कालका रेलमार्ग पर घग्गर रेलवे पुल के नजदीक शनिवार देर रात पटरी पर सिर रखकर सुसाइड करने वाले लड़के की शिनाख्त हो गई है। मृतक मुबारिकपुर का 16 साल का सूरज मिश्रा है। वह एनएन मोहन डीएवी सीनियर सेकंडरी स्कूल डेराबस्सी में 9वीं का स्टूडेंट था। उसके परिजनों के अनुसार सूरज से मारपीट कर चुका गांव का ही एक लड़का उसे धमका रहा था। जिसे लेकर सूरज परेशान रहता था। सुसाइड के लिए मजबूर करने के आरोप की जांच के लिए रेलवे पुलिस को मृतक के अंतिम भोग हो जाने का इंतजार है। जानकारी मुताबिक सूरज मिश्रा पुत्र राम बहादुर वासी मुबारिकपुर परिवार में 2 भाई व 2 बहनों में सबसे बड़ा था। उसके पिता पेशे से प्लंबर हैं। रेलमार्ग पर हादसे की जानकारी रेलवे पुलिस, लालडू को रविवार तड़के साढ़े तीन बजे मिली थी। घग्गर रेलवे पुल के नजदीक नगला की ओर युवक का शव ट्रैक किनारे मिला था। उसकी गर्दन समेत खोपड़ी ट्रेन तले आकर कुचली हुई थी जब बाकी हिस्सा ट्रैक के बाहर था। राम बहादुर के अनुसार शनिवार को ड्यूटी से लौटते हुए सूरज उसे करीब सात बजे मिला। पूछने पर उसने कहा कि थोड़ी देर में लौट रहा हूं परंतु देर रात तक न लौटने पर परिवार वालों ने उसकी तलाश की परंतु कहीं कोई पता न चला। सुबह खबरों आदि से एक शव मिलने का पता चला। रामबहादुर ने बताया कि करीब चार महीने उसके बेटे को गांव में युवक ने अपने साथियों के साथ पीटा थी। इसकी शिकायत मुबारिकपुर पुलिस में दी थी जिसका बाद में समझौता हो गया। रामबहादुर के अनुसार मारपीट करने वाला युवक समझौते के बाद से भी उसे देख लेने की धमकी दे रहा था। रेलवे पुलिस चौकी इंचार्ज रामपाल ने कहा कि मृतक से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। परिवार ने फिलहाल लिखित शिकायत नहीं दी है।

घरवाले बोले- एक लड़का बेटे को धमकाता था

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dera bassi

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×