• Home
  • Chandigarh Zilla
  • Mohali
  • Dera Bassi
  • महिलाओं को रजिस्ट्री में 2% छूट पर सरकार ने कसी नकेल, 1 साल तक नहीं बेच सकेंगे प्रॉपर्टी
--Advertisement--

महिलाओं को रजिस्ट्री में 2% छूट पर सरकार ने कसी नकेल, 1 साल तक नहीं बेच सकेंगे प्रॉपर्टी

पंजाब सरकार ने प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन में महिलाओं के नाम रजिस्ट्री कराने पर स्टांप ड्यूटी में 2 फीसदी छूट के संबंध...

Danik Bhaskar | Jun 18, 2018, 02:00 AM IST
पंजाब सरकार ने प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन में महिलाओं के नाम रजिस्ट्री कराने पर स्टांप ड्यूटी में 2 फीसदी छूट के संबंध में नियमों में बदलाव किया है। पंजाब के माल विभाग की स्टैंप एवं रजिस्ट्री शाखा द्वारा स्टांप ड्यूटी के दुरुपयोग रोकने के लिए इसी महीने पूरे पंजाब में लागू किया गया है। इसके तहत रजिस्ट्री कराने वाली महिला 1 साल के भीतर ब्लड रिलेशन के बहाने किसी पुरुष के नाम पर रजिस्ट्री ट्रांसफर नहीं करेगी। यदि ऐसा किया जाता है तो सरकार 2 फीसदी की दी हुई छूट वापस वसूल लेगी। सरल शब्दों में महिला एक साल तक रजिस्ट्री को अपने नाम ही रखनी होगा।

बता दें कि पंजाब में प्राॅपर्टी रजिस्ट्रेशन पर स्टांप ड्यूटी में पुरुषों के मुकाबले महिलाओं को दो फीसदी की छूट है। बशर्ते रजिस्ट्री महिला के नाम पर करवाई जाए। यदि महिला व पुरुष संयुक्त रुप से रजिस्ट्री कराते हैं, तो यह छूट एक फीसदी रह जाती है। यह छूट फरवरी, 2010 से लागू है। जबकि 2014 में ब्लड रिलेशन में रजिस्ट्री कराने पर सौ फीसदी छूट है। परंतु बीते कुछ सालों में सरकार के ध्यान में आया है कि राहत के नाम पर सरकार द्वारा महिलाओं के हक में दी गई स्टांप ड्यूटी में उपरोक्त छूट का दुरुपयोग धड़ल्ले से होने लगा है।

पहले रजिस्ट्री महिला के नाम पर करवा ली जाती है और बाद में उसी जमीन-जायदाद को ब्लड रिलेशन में दिखाकर बिना स्टैंप ड्यूटी व अन्य फीसदी अदा किए बिना परिवार के पुरुष सदस्य के नाम पर जायदाद तबदील करवा दी जाती है। ऐसे मामले सामने आने पर सरकार ने अब नए नियम लागू किए हैं। वहीं, ब्लड रिलेशन में रजिस्ट्री की इस प्रथा से सरकार को सीधा-सीधा 2 फीसदी स्टांप ड्यूटी का नुकसान हो रहा था। यानी राहत के नाम पर अधिकांश परिवार महिलाओं की आड़ में सरकारी राजस्व को ही आहत करने में लगे थे। इस प्रथा को रोकने के लिए अब सरकार द्वारा यह फैसला लिया गया है। उपरोक्त छूट केवल उन हालात में ही बरकरार रहेगी। जिसमें रजिस्ट्री कराने के 1 साल के तक जमीन जायदाद किसी पुरुष के नाम मलकियत तबदील न की गई हो। ऐसा होने पर स्टांप ड्यूटी में दी गई छूट सरकार वापस वसूलेगी।

महिला अगर 1 साल से पहले प्रॉपर्टी को बेचती है तो देनी होगी फीस वापस

तहसील में महिलाओं के नाम पर प्राॅपर्टी रजिस्ट्रेशन कराने आए लोगों की फाइल फोटो।