Hindi News »Chandigarh Zilla »Mohali »Dera Bassi» सबसे मंहगे एटीएस प्रोजेक्ट में असुविधाओं को लेकर आज होगा रोष मार्च

सबसे मंहगे एटीएस प्रोजेक्ट में असुविधाओं को लेकर आज होगा रोष मार्च

शहर की सबसे महंगे रिहायशी प्रोजेक्ट एटीएस के लाइफस्टाइल टावर्स के बाद अब परल्यूड टावर्स के बाशिंदों ने भी...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 01, 2018, 02:00 AM IST

सबसे मंहगे एटीएस प्रोजेक्ट में असुविधाओं को लेकर आज होगा रोष मार्च
शहर की सबसे महंगे रिहायशी प्रोजेक्ट एटीएस के लाइफस्टाइल टावर्स के बाद अब परल्यूड टावर्स के बाशिंदों ने भी प्रोजेक्ट प्रबंधकों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन का फैसला किया है। एटीएस परल्यूड रेजिडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशन के बाशिंदों ने शनिवार को बैठक कर रविवार को एटीएस प्रबंधकों के स्थानीय कार्यालय तक रोष मार्च निकालने का फैसला किया है।

बैठक की जानकारी देते हुए एसोसिएशन के प्रधान गुरचरण सिंह विरदी, वरिष्ठ सदस्य बलजीत सिंह कारकौर व विमल चोपड़ा ने बताया कि सबसे पॉश काॅलोनी का दर्जा हाेने के बावजूद एटीएस प्रोजेक्ट्स में नागरिक सुविधाओं प्रबंधकों के दावों से मेल नहीं खा रही हैं। बार बार शिकायत करने पर भी समाधान नहीं किया जा रहा है। प्रधान ने बताया कि प्रबंधक उनसे बीते 7 साल से मेंटीनेंस की महंगी मासिक फीस वसूलते आ रहे हैं। परंतु, आज तक उन्होंने एसोसिएशन को इसका हिसाब नहीं दिया। प्रधान ने आरोप लगाया कि उन्हें प्रोजेक्ट पॉलिसी बारे न बताया जाता है, न ही कोई मीटिंग उनका नुमाइंदा आता है। वैसे भी बिना एग्रीमेंट के ही उनसे भारी भरकम मेंटीनेंस फीस चार्ज की जा रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि आरटीआई से प्राप्त की जानकारी मुताबिक प्रबंधकों के पास न फ्लैट ऑक्युपेशन देने का सर्टिफिकेट है, न ही कंप्लीशन सर्टिफिकेट। परल्यूड के बाशिंदों की समस्याएं नए बने लाइफस्टाइल टावर्स से भी कहीं पुरानी हैं। रविवार को यहां महिलाओं सहित बाशिंदों द्वारा पहली बार प्रोजेक्ट प्रबंधकों के स्थानीय मेन ऑफिस तक शांतिपूर्ण रोष मार्च निकाला जाएगा

डेराबस्सी में एटीएस परल्यूड प्रोजेक्ट की एसोसिएशन की कार्यकारिणी शनिवार को बैठक के दौरान।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dera bassi

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×