Hindi News »Chandigarh Zilla »Mohali »Dera Bassi» डेराबस्सी में 10 रुपए में खाने की मुहिम अभी भी जारी, 350 लोग खाते हैं भरपेट

डेराबस्सी में 10 रुपए में खाने की मुहिम अभी भी जारी, 350 लोग खाते हैं भरपेट

पंजाब सरकार के निर्देशों से जिला प्रशासन की ओर से डेराबस्सी सबडिवीजन में भी गरीबों के लिए 10 रुपए में सस्ता खाने की...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 09, 2018, 02:00 AM IST

पंजाब सरकार के निर्देशों से जिला प्रशासन की ओर से डेराबस्सी सबडिवीजन में भी गरीबों के लिए 10 रुपए में सस्ता खाने की सांझी रसोई सुविधा नौ महीने बाद भी जारी है। रोजाना 300 से 350 सौ लोगों को दस रुपए में भरपेट सस्ता खाना मिल रहा है, वह भी मॉडर्न ढाबे जैसी सुविधाओं के बीच। सोमवार व वीरवार को खीर व हल्वा भी। लोग जन्मदिवस सहित जश्न समारोह का आनंद यहां खाने का बंदोबस्त व उसे परोस कर उठा रहे हैं, वहीं कई ऐसे भी हैं जो अपने सगों की पुण्यतिथियों पर लंगर खाने का बंदोबस्त कर उन्हें श्रद्धांजिल दे रहे हैं।

मॉडर्न ढाबे जैसी सुविधाओं के बीच सबसे सस्ता खाना : राममंदिर परिसर में 30 बाई 70 फीट जैसा बड़ा खुला हाल में मुहैया सुविधाएं किसी मॉडर्न ढाबे से कम नहीं। यहां कूलर का ठंडा पानी है, वहीं बारिश से बचने के लिए शेड व गर्मी से राहत के लिए छत के पंखे भी हैं। पहले लोगों को जूते चप्पल उतार नीचे बैठकर खाना पड़ता था। ऐसे में नीचे बैठने में कुछ लोग परहेज करते थे तो बीमार व बुजुर्गों के लिए नीचे बैठकर खाने से बेबस थे। इस हफ्ते सनातन धर्म सभा की ओर से लोगों के लिए 15 बड़े टेबल व बेंच मुहैया कराए गए। इस सुविधा की शुरुआत पंजाब कांग्रेस के प्रदेश सचिव दीपइंदर ढिल्लों एवं पीपीसीसी सदस्य अमृतपाल सिंह ने की। इन नेताओं ने पहले खुद लोगों को सस्ता भोजन सर्व किया और फिर टेबल बेंच पर बैठ उसका स्वाद भी चखा। अब यह लोग इत्मीनान से बिना जूते चप्पल उतारे साफ सुथरे बेंचों पर ढाबे की तरह सस्ता खाने का आनंद ले रहे हैं। सुशील व्यास व सोमनाथ शर्मा के अनुसार इससे लोगों की जूते चप्पलें चोरी या खोने की शिकायतें भी दूर हो गई हैं।

वहीं, पूरे हलके में केवल डेराबस्सी में ही साझी रसोई के तहत सस्ते खाने की सुविधा शुरु की जा सकी है। इसमें शहर की सबसे पुरानी संस्था श्री सनातन धर्म सभा से बतौर संचालक का सहयोग लिया गया। कई बार स्थानीय लोग अपनी श्रद्धानुसार कभी हलवा, फल, खीर या अलग से सब्जी आदि का अलग से प्रबंध भी करने लगे हैं। सभा द्वारा खाने के लिए मंदिर परिसर में स्थान देने और बिजली पानी सेवा के अलावा खाना तैयार कर परोसने तक में मैन पावर मुहैया कराई गई। प्रधान सुशील व्यास ने बताया कि अब तक दस रुपए के 80 हजार कूपन बांटकर लोगों को सस्ता खाना मुहैया कराया जा चुका है।

सबसे अहम है कि यह समाजसेवी दायित्व सीनियर सिटीजंस सहित रिटायर्ड लोग उठा रहे हैं। नौ महीने बाद भी इस समाज सेवा के लिए सनातन धर्म सभा के सदस्यों के जोश में कोई कमी नहीं आई है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dera bassi

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×