Hindi News »Chandigarh Zilla »Mohali »Dera Bassi» सैलरी न मिलने पर दरदर की ठोकरें खा रहे हैं ईंट भट्‌ठे के 12 श्रमिक परिवार

सैलरी न मिलने पर दरदर की ठोकरें खा रहे हैं ईंट भट्‌ठे के 12 श्रमिक परिवार

खेड़ी गुज्जरां गांव के समीप एक ईंट भट्ठे के करीब एक दर्जन परिवार जाएं तो जाएं कहां की स्थिति में दर-दर की ठोकरे खा...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 23, 2018, 02:05 AM IST

खेड़ी गुज्जरां गांव के समीप एक ईंट भट्ठे के करीब एक दर्जन परिवार जाएं तो जाएं कहां की स्थिति में दर-दर की ठोकरे खा रहे हैं। उनका आरोप है कि भट्ठा मालिक ने छह महीने तक उनके काम का हिसाब नहीं दिया है और शिकायत करने पर उन्हें भट्ठा परिवार से ही खदेड़ दिया है। मामला जिला मजिस्ट्रेट, मोहाली के जरिए डेराबस्सी एसडीएम तक पहुंचा है। जिन्होंने मजदूर परिवारों के खाने पीने के राशन का इंतजाम कर ईंट भट्ठा मालिक को इन मजदूरों का तुरंत हिसाब करने के सख्त निर्देश दिए हैं।

जानकारी देते हुए यूपी के जिला शामली के संजीव, पूजा, सन्नी, यश, छोटू, राकेश, ओमपाल, शिव कुमार, मोनिका व उनके वकील योगेश कुमार ने आरोप लगाया है कि एकेएम ईंट भट्ठे पर करीब छह महीने से उनसे काम लिया जाता रहा है, परंतु उनके काम का हिसाब नहीं दिया गया है। केवल खाने-पीने का मामूली खर्च देकर उनसे काम लिया जाता रहा है। इस बारे में शिकायत करने पर उन्हें भट्ठे से बिना हिसाब दिए खदेड़ दिया गया है। अब ये परिवार एक निकटवर्ती भट्ठे पर बिना काम के अपने वेतन की बाट जोह रहे हैं। उनके पास खाने-पीने तक का सामान नहीं और बिना पैसे वे घर भी नहीं लौट सकते हैं। वकील योगेश ने बताया कि वीरवार को तहसीलदार ने भट्ठे का दौरा किया था। परंतु, तब तक इन परिवारों को वहां से खदेड़ा जा चुका था।

इस बीच भट्ठा मालिक सोहनलाल ने बताया कि उक्त मजदूर बिना बताए काम छोड़ खुद ही एक महीना पहले चले गए थे। जब उनसे पूछा कि उन्हें बनता पारिश्रमिक क्यों नहीं दिया गया, तब सोहन ने कहा कि अभी रेट तय होना बाकी है। फिर भी वे हिसाब जल्दी चुकता कर देंगे। इस बीच ये परिवार एसडीएम के पास पहुंचे। एसडीएम परमजीत सिंह ने कहा कि भट्ठा मालिक को बुलाया गया था और वह हिसाब देने को राजी हो गया है। इस बीच उन्होंने फूड सप्लाई महकमे से इन परिवारों के लिए राशन का प्रबंध किया है। साथ ही लेबर इंस्पेक्टर को निर्देश दिए हैं कि यदि भट्ठेवाले एकाध दिन में हिसाब नहीं करते तो उनके खिलाफ बनती कार्रवाई की जाएगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dera bassi

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×