• Home
  • Chandigarh Zilla
  • Mohali
  • Dera Bassi
  • आदर्श नगर की गली नं 4 की मेन एंट्री धंसने से चार दिन से नहीं आ रहा घरों में पानी
--Advertisement--

आदर्श नगर की गली नं 4 की मेन एंट्री धंसने से चार दिन से नहीं आ रहा घरों में पानी

आदर्श नगर की गली नंबर 4 की हाईवे से मेन एंट्री धंसने से हुए गड्ढे की है, उससे यहां के बाशिंदों के लिए यह नासूर बनती जा...

Danik Bhaskar | Jun 30, 2018, 02:05 AM IST
आदर्श नगर की गली नंबर 4 की हाईवे से मेन एंट्री धंसने से हुए गड्ढे की है, उससे यहां के बाशिंदों के लिए यह नासूर बनती जा रही है। 12 दिन से यहां से पानी व मलवा निकालने के बाद भी समस्या का हल नहीं हो रहा है, बल्कि गड्ढा जरूर और चौड़ा व गहरा होता जा रहा है। इतने दिनों से गली में वाहनों की आवाजाही तो बंद थी ही, अब चार दिन से वाॅटर सप्लाई भी बंद हो गई है। अहम बात यह है कि मौजूदा स्थानीय पार्षद एवं पूर्व प्रधान और उपप्रधान की इस गली में रिहायश व दफ्तर होने के बावजूद समस्या और विकराल हो रही है। इसे दुरुस्त करने में प्रशासन की लाचारी को लेकर लोगों में भारी रोष पाया जा रहा है।

गली वासियों में आरडी शास्त्री, आशु महेंद्रू, मास्टर हरबंस लाल, काका सिंह, सुरेश कुमार, तरसेम लाल, रणधीर सिंह समेत लोगों ने बताया कि रोष प्रकट करते कहा कि यह गली बारिश में बार-बार धंस रही है। धंसने से यहां के बाशिंदों को काफी लंबा रास्ता तय करना पड़ता है। गली में उनके वाहनों की आवाजाही भी बाधित हो गई है। अब खुदाई के दौरान पानी की पाइपलाइन भी टूट गई है। जिससे पानी सप्लाई भी बंद हो गई है। चार दिनों से टैंकरों से पानी सप्लाई हो रहा है। गली में इसी वार्ड के पार्षद एवं पूर्व प्रधान हरजिंदर सिंह रंगी का मकान है, जबकि पूर्व प्रधान एवं मौजूदा पार्षद भूपिंदर सैनी का गली के प्रवेश पर कार्यालय भी है। बावजूद इसके समस्या का स्थायी समाधान नहीं किया जा रहा है। और कितने दिन लगेंगे, इसका भी कोई जवाब प्रशासन नहीं दे रहा है।

डेराबस्सी में धंसी आदर्श नगर गली नं 4 में गड्ढ़े से मलवा व पानी निकालने से बढ़ी परेशानी



यह गली 18 जून को बारिश में अंडरग्राउंड सीवर लाइन व ड्रेन में लीकेज के बाद इसकी निकासी बाधित होने से यह गली फिर खोखली होकर धंस गई थी। सीवर के मैनहोल की एक तरफ की दीवार ही ढह चुकी है, जबकि हाईवे की ड्रेन में लगातार पानी की लीकेज ने गली को और खोखला कर दिया है। वीरवार को एक बिजली खंभा भी गिरने लगा था, जिसे आज बदलना पड़ा। बारिश इस समस्या की आग में घी का काम रही है। मौके पर चोक निकासी खोलने वाला कैम्बी वाहन, जनरेटर लगाकर पानी पंप आउट किया जा रहा है। वहीं, जेसीबी से मलवा बाहर निकाला जा रहा है। इसे खड्डा 15 फीट गहरा और 20 बाई 20 फीट चौड़ा जरूर हो गया। परंतु रिपेयर कब मुकम्मल हो पाएगी, इसकी कोई समय सीमा नहीं बताई जा रही।