• Home
  • Chandigarh Zilla
  • Mohali
  • Dera Bassi
  • मेडिटेशन की तरह सुकून देते हैं पुराने गाने, डेराबस्सी में जल्द बनाएंगे ऑडिटोरियम : ढिल्लों
--Advertisement--

मेडिटेशन की तरह सुकून देते हैं पुराने गाने, डेराबस्सी में जल्द बनाएंगे ऑडिटोरियम : ढिल्लों

शहर में आयोजित म्यूजिकल नाइट में बतौर मुख्यातिथि पधारे कांग्रेस के प्रदेश महासचिव दीपइंदर सिंह ढिल्लों भी बतौर...

Danik Bhaskar | Jul 02, 2018, 03:10 AM IST
शहर में आयोजित म्यूजिकल नाइट में बतौर मुख्यातिथि पधारे कांग्रेस के प्रदेश महासचिव दीपइंदर सिंह ढिल्लों भी बतौर गायक कलाकार शरीक हो गए। सियासत भूलकर ढिल्लों गायकी में इतने मशगूल हुए कि एक के बाद एक रफी व किशोर के करीब एक दर्जन गानों की झड़ी लगा दी। ढिल्लों के इस हुनर से ज्यादातर इलाकावासी पहली बार मुखातिब हुए। इस कार्यक्रम में चंडीगढ़, पंजाब और हरियाणा से आये कलाकारों किशोर व रफी के गीत गाकर वाहवाही बटोरी।

ढिल्लों ने कहा कि नए गीतों के मुकाबले पुराने गीत आज भी सदाबहार हैं। ये गीत मेडिटेशन का काम करते हुए मन को सुकून देते हैं। ढिल्लों ने कहा कि डेराबस्सी में एक भी ऐसा ऑडिटोरियम नहीं है। जहां पर सांस्कृतिक कार्यक्रम करवाए जा सके। उनकी पूरी कोशिश रहेगी कि डेराबस्सी में एक ऑडिटोरियम बनवाया जाए। यशपाल चौहान की अगुवाई में पायल म्युजिकल क्लब द्वारा स्थानीय पारस होटल में आयोजित रफी नाइट का उद्घाटन नेक्टर साइंस कंपनी के मनजीत सिंह नेगी ने किया।

पेशे से राजमिस्त्री एवं खरड़ से विशेष तौर पर पंहुचे नछत्तर सिंह ने कश्मीर की कली फिल्म का गीत ‘सुभानल्ला, हंसी चेहरा, खुदा महफूज रखे हर बला से...’ गाकर वाहवाही लूटी। विशेष मेहमानों में नितिन जिंदल, रणजीत सिंह रेड्डी, अशोक जिंदल, सोनू सेठी आदि मौजूद थे। राजिंदर सिंह कमांडो के निर्देशन में गुरिंदर लवली, सुरिंदर, कर्म सिंह, विनोद शर्मा, सरबजीत शिबू ने संगीत के साजो पर अपना हुनर दिखाया।