• Home
  • Chandigarh Zilla
  • Mohali
  • Dera Bassi
  • मीरपुर में ईसाई ट्रस्ट की जमीन 25 करोड़ में बेचने का आरोप, 7 के खिलाफ कम्प्लेंट
--Advertisement--

मीरपुर में ईसाई ट्रस्ट की जमीन 25 करोड़ में बेचने का आरोप, 7 के खिलाफ कम्प्लेंट

डेराबस्सी | गांव मीरपुर में अंग्रेजों के जमाने से ईसाई ट्रस्ट की करोड़ों रुपए की प्राइम लैंड का सौदा 25 रुपए करोड़ में...

Danik Bhaskar | Jul 04, 2018, 03:25 AM IST
डेराबस्सी | गांव मीरपुर में अंग्रेजों के जमाने से ईसाई ट्रस्ट की करोड़ों रुपए की प्राइम लैंड का सौदा 25 रुपए करोड़ में कर दिया गया है। यह आरोप ईसाई समुदाय के इस्हाक भट्टी निवासी मिशन चर्च कंपाउंड, अंबाला ने लगाए हैं। अब इस मामले में उन्होंने एक पादरी व डायरेक्टर समेत सात लोगों के खिलाफ पंजाब के चीफ सेक्रेटरी को शिकायत भी दे दी है। जिला मुक्तसर के परमिंदर सिंह पर ये जमीन खरीदने का आरोप गलाया गया है। ईसाई ट्रस्ट से पादरी व डायरेक्टर ने आरोपों को झूठा बताया।

डेराबस्सी प्रेस क्लब कार्यालय में काॅन्फ्रेंस के दौरान इस्हाक भट्टी ने उक्त आरोपों की एवज में दस्तावेजों का पुलिंदा भी पेश किया। कुवैत में कारोबारी इस्हाक भट्टी ने बताया कि मीरपुर के हदबस्त नंबर 356 के तहत 18 कनाल 28 मरले जमीन का प्रबंध चर्च ऑफ नॉर्दर्न इंडिया (सीएनआई) के हाथों में है और वहां गरीब व बेसहारों के लिए चैरिटेबल डिस्पेंसरी भी खोली गई थी जो आजकल बंद है। यह जमीन पादरी रवि छत्रीय व उसके साथियों ने डॉ. सुनिल सादिक, जोकि मिशन अस्पताल अंबाला के डायरेक्टर भी हैं, ने मिलीभगत कर यूसीएनआईटीए नाम की फर्जी संस्था बनाई और फर्जी दस्तावेजों के आधार पर बीती फरवरी में जमीन 25 करोड़ में बेच दी। इसकी एवज में वसूले गए 25 लाख रुपए बयाने के उन्होंने रसीद भी पेश की।

इस्हाक भट्टी


पादरी रवि छत्रीय व डायरेक्टर डॉ. सुनिल सादिक ने मामले को झूठा बताते हुए कहा कि वे जल्द ही मामले का पर्दाफाश करेंगे। दोनों ने कहा कि उन्हें मुख्य सचिव से नोटिस मिल चुके हैं। वे अपना जवाब 6 जून को सौंप देंगे।