पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • अनियमित कर्मियों की हड़ताल 15 अगस्त तक स्थगित

अनियमित कर्मियों की हड़ताल 15 अगस्त तक स्थगित

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
धमतरी | 4 सूत्रीय मांगों को लेकर 22 दिन से हड़ताल कर रहे जिले के अनियमित कर्मचारियों ने एक हफ्ते के लिए हड़ताल स्थगित कर दी है। उनकी मांग 15 अगस्त तक सरकार पूरी नहीं करती है तो फिर से हड़ताल की जाएगी। हड़ताल के दौरान धमतरी जनपद के 5 कर्मी को भी बर्खास्त भी कर दिया गया है। अब इन्हें वापस ले लिया जाएगा।

छत्तीसगढ़ संयुक्त प्रगतिशील कर्मचारी महासंघ के जिलाध्यक्ष उत्तर कुमार साहू ने बताया कि 6 अगस्त देर-शाम को मुख्य सचिव अजय सिंह से चर्चा हुई। उन्होंने 15 अगस्त तक मांगों को पूरा करने का आश्वासन दिया। राज्य शासन की ओर से सकारात्मक आश्वासन के बाद यूनियनों ने 15 अगस्त तक के लिए हड़ताल स्थगित की है। अनियमित कर्मचारियों की विगत 22 दिन से हड़ताल चल रही थी। हड़ताल अवधि में जिन कर्मचारियों पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की गई है। मुख्य सचिव ने ऐसी सभी कार्यवाही शून्य करने पर सहमति भी दी। समय अवधि में मांग पूरी नहीं होने की स्थिति में 16 अगस्त से फिर अनियमित कर्मी हड़ताल पर जाएंगे।

इन्हें किया गया है बर्खास्त

जिला पंचायत और जनपद पंचायतों में कार्यरत संविदा कर्मचारियों को सीईओ रितेश अग्रवाल ने नोटिस जारी किया था। काम पर लौटने को कहा था। कर्मचारी काम पर नहीं लौटे, तो संघ के प्रमुख नेता अंकिता ठाकुर, रोहित साहू, गिरीश चंद्रा, नरेन्द्र कुमार बंदे, दीपक सोनी को सेवा समाप्त करने का नोटिस 4 अगस्त को दिया गया। सीईओ के मुताबिक नोटिस के बावजूद काम नहीं लौटने के कारण बर्खास्तगी की कार्रवाई की गई।

हड़ताल से इन विभागों में चरमरा गई थी व्यवस्था

नियमितीकरण और संविदा नीति का निर्धारण करने, समान काम, समान वेतन देने समेत अन्य मांगों को लेकर शासकीय विभागों में कार्यरत लगभग 4 हजार संविदा कर्मचारियों की हड़ताल से मनरेगा, राजीव गांधी शिक्षा मिशन, स्वच्छ भारत मिशन, मुख्यमंत्री कौशल विकास विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, लोकपाल समेत अन्य विभागों में कार्य प्रभावित हो रहा था। यहां फाइलें भी आगे नहीं बढ़ पा रही थी। पीएम आवास योजना समेत अन्य योजनाओं का क्रियान्वयन भी ठीक से नहीं हो पा रहा था। इसलिए शासन ने इनकी मांगों पर विचार का पूरा करने का आश्वासन दिया है। बुधवार से सभी हड़ताली कर्मचारियों के काम पर वापस लौटने से सरकारी कामकाज फिर से पटरी पर आएगा।

खबरें और भी हैं...