पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • बांदेड़ी में जलजमाव व कीड़े से फसल हुई थी चौपट, फसल बीमा योजना में जोड़ा जाए नाम

बांदेड़ी में जलजमाव व कीड़े से फसल हुई थी चौपट, फसल बीमा योजना में जोड़ा जाए नाम

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
साहब….! पिछले साल जल जमाव व कीड़े लगने से सरदारपुर तहसील के गांव बांदेड़ी के पटवारी हल्का नंबर 46/90 में काफी नुकसान हुआ था। 60 से 70 प्रतिशत फसल का नुकसान हाेने के बावजूद किसानों को राहत के लिए मुआवजा राशि नहीं दी गई। जबकि खातों से पहले ही मुआवजा राशि काट ली जाती है। खेती कर परिवार का पालन पोषण कर रहे है। यह समस्या मंगलवार को बांदेड़ी के किसानों ने धार आकर एडीएम दिलीप कापसे को ज्ञापन देकर कहीं।

मुख्यमंत्री व कलेक्टर के नाम दिए ज्ञापन में किसानों ने बताया पिछले वर्ष भी नुकसान होने पर बांदेड़ी का नाम मुआवजा सूची में नहीं जोड़ा गया था। जबकि राशि खातों से काट ली जाती है। शीघ्र गांव का नाम भी मुआवजा सूची में जोड़ने की मांग की। किसान विमल सिसौदिया, जयप्रकाशसिंह, सुरेश पाटीदार, बंशीलाल सिसौदिया समेत बड़ी संख्या में किसान मौजूद थे।

धार. बांदेड़ी के किसानों ने कलेक्टाेरेट पहुंचकर दिया ज्ञापन।

सर्वे के बाद भी किसानों को नुकसानी का मुआवजा नहीं मिला

सरदारपुर | तहसील के किसानों को फसल बीमा राशि नहीं मिलने पर ब्लाॅक कांग्रेस कमेटी सरदारपुर ने मंगलवार को मुख्यमंत्री के नाम पर एसडीएम एसएन दर्रों को दिया। इससे बताया विगत वर्ष 2017-18 में सोयाबीन की फसल खराब हो गई थी जिसका पटवारी ने सर्वे भी किया था लेकिन आज तक किसानों को फसल नुकसानी पर बीमा राशि नहीं मिली है। सरदारपुर विधानसभा के संपूर्ण क्षेत्र में भेदभावपूर्वक सर्वे किया गया है कही पर नुकसानी का प्रतिशत 40-50 दर्ज किया गया है तो कई जगहों पर नुकसानी का प्रतिशत मात्र 5 प्रतिशत दर्ज किया है। वर्तमान में शासन की किसान विरोधी नीतियों के कारण क्षेत्र के किसान की आर्थिक स्थिति दयनीय है। वहीं दूसरी तरफ गांव बोदली, जौलाना, बड़वेली, एहमद, पसावदा, हनुमन्त्या पदमपुरा, बरखेड़ा, चुन्यागढ़ी, उंडेली, खरेली, हातोद, मौरगांव, बांदेड़ी आदि गांवों के किसानों को वास्तविक नुकसानी होने के बावजूद फसल बीमा नहीं मिली। जिससे किसान वर्ग में निराशा है। अगर सरदारपुर तहसील के किसानों को उनकी वास्तविक नुकसानी का फसल बीमा 8 दिन के अंदर प्रदान नहीं किया तो कांग्रेस एवं किसान उग्र आंदोलन करेंगे। ज्ञापन का वाचन युवक कांग्रेस अध्यक्ष दिनेश बैरागी ने किया। ज्ञापन देते समय ब्लॉक अध्यक्ष रघुनंदन शर्मा, जिला पंचायत सदस्य प्रतिनिधि दिलीप वसुनिया, किसान कांग्रेस प्रदेश सचिव नरसिंह हामड़, बलराम यादव, रमेश जाट, सुरेश जाट आदि मौजूद थे।

सरदारपुर. ब्लॉक कांग्रेस व किसानों ने एसडीएम को दिया ज्ञापन।

इधर…बारिश नहीं होने से सोयाबीन की फसल मुरझाने लगी, जमीन में आ रही दरारें

दसई |
क्षेत्र में 15 दिन बाद भी बारिश नहीं होने से सोयाबीन की फसल मुरझाने लगी है। रोज तेज धूप निकलने से खेतों की नमी खत्म होने से जमीन में दरारें आ गई है। ऐसी स्थिति में किसानों के सामने विकट स्थिति निर्मित हो गई है। बारिश के लिए मंदिरों में पूजन पाठ का दौर शुरू हो गया है। नगर के किसानों के खेत भीलगुन, भरावदा, चोटिया बालोदा, लोहारी, धोलबावड़ी, रागातलाई आदि क्षेत्र में है। जहां सोयाबीन की खड़ी फसल मुरझाने लगी है और खेतों में दरारें आ गई है।

खबरें और भी हैं...