पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • स्वास्थ्य विभाग ने लोगों को किया बीमारियों के प्रति जागरूक

स्वास्थ्य विभाग ने लोगों को किया बीमारियों के प्रति जागरूक

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बरसात के बाद मौसम में आए बदलाव को देखते हुए तथा लगातार बढ़ते वायरल के मरीजों की संख्या को देखते हुए विभाग ने मौसम जनित बीमारियों को लेकर लोगों को जागरूक करने के लिए अभियान चलाया। वर्तमान मौसम में जुकाम, वायरल व त्वचा संबंधी रोग से ग्रस्त मरीजों की संख्या बढ़ रही है। सीएचसी बादली की ओपीडी में पिछले कुछ दिनों से रोजाना ढाई सौ से तीन सौ मरीज आ रहे हैं। चिकित्सकों का ककहना है कि उमस के कारण पसीना आता है। पसीना सूखने से वस्त्रों पर सफेद दाग पड़ते हैं, जिससे त्वचा पर नमकीन द्रव्य वाले दाने आ जाते हैं। इससे त्वचा में लाल दाने भी पड़ जाते हैं। त्वचा में गीलापन आ जाता है। बार-बार रगड़ से त्वचा में खराश की शिकायत सामने आ रही है।

सीएचसी के नेत्र रोग विशेषज्ञ सुनील दत्त का क हना है कि इन दिनों में आंखों में जलन महसूस होती है। रुमाल की बजाय आंख पर बार-बार हाथ फेरने से संक्रमण की शिकायत पैदा हो रही है। इस मौसम में बुजुर्गों को ज्यादा दिक्कत महसूस होती है। वृद्धों को खासी देखभाल व सतर्कता की जरूरत होती है। उन्हें हवादार स्थान पर रहना चाहिए ताकि उमस महसूस न हो। एसएमओ संगीता खुराना ने कहा कि मौसम बदलने पर विभिन्न तरह के रोग साथ आते हैं। इन दिनों तो जुकाम व वायरल के मरीज बहुत ज्यादा आ रहे हैं। जुकाम व वायरल की अनदेखी करने से स्थिति कई बार बिगड़ भी जाती है। इसीलिए प्रारंभिक स्टेज में ही चिकित्सक से संपर्क कर लेना चाहिए। नीम हकीम की बजाय सरकारी अस्पताल से चिकित्सीय सलाह व दवा लेनी चाहिए।

मौसम में आए बदलाव से लगातार बढ़ रही वायरल के मरीजों की संख्या

खबरें और भी हैं...