पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • लोक परिवहन की 15 बसों में से 8 को ही चलाने की मंजूरी

लोक परिवहन की 15 बसों में से 8 को ही चलाने की मंजूरी

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर संवाददाता | डूंगरपुर

लोक परिवहन के नाम पर सड़कों पर दौड़ने वाली बसों के पास अभी तक परिवहन विभाग की परमिट भी नहीं है। जिसके कारण जिले में 15 लोक परिवहन सेवा में 7 बसे बिना परमिशन के सड़कों पर दौड़ रही हैं।

रोडवेज के मुख्य प्रबंधक तस्दुक हुसैन ने बताया कि लोक परिवहन बसों की परमिट के लिए उदयपुर आरटीओ से पत्र प्राप्त किए गए थे। जिसमें डूंगरपुर जिले में 8 बसों को चलाने की परमिट दी गई है, जिसमें भी इन बसों को एकल सेवा मार्ग की आज्ञा दी गई है।

इन बस संचालकों को प्रारंभ वाले स्टेशन से अंतिम स्टेशन तक एकल सेवा देने के निर्देश है। जिसमें किलोमीटर संचालित करने के लिए भी पाबंद कर रखा है। इसके बावजूद जिलेभर में लोक परिवहन सेवा की बसे दिनभर में चार से आठ ट्रिप काट रही है।

तीन दिन पहले लोक परिवहन बस सेवा के चालक की ओर से रोडवेज कार्मिकों के साथ मारपीट के बाद रोडवेज अधिकारियों ने लोक परिवहन बसों के परमिट संबंधी कागजों की तहकीकात की है। जिसमें कई बसों में बगैर परमिट के चल रही है। जिसके लिए परिवहन विभाग को सूचना भी दी जा चुकी है।

एकल सेवा मार्ग के लिए बसों को परमिट
लोक परिवहन सेवा के लिए सभी आठ बसों को एकल सेवा के तहत परमिट दी गई है। जिसमे निर्धारित समय से बस को अंतिम स्टेशन तक की परमिट है। जिसमें डूंगरपुर से उदयपुर, जयपुर से डूंगरपुर, उदयपुर से कुशलगढ़ और डूंगरपुर से बांसवाड़ा तक बस संचालित करने के निर्देश है। जिसमे सिर्फ उन्हें एकल सेवा देते हुए सिंगल ट्रिप करनी है। इसके बावजूद ये बसे दिनभर में चार से आठ ट्रिप कर राजस्व नुकसान पहुंचा रही है।



आठ बसों के परमिट पर 15 बसे संचालित
मुख्य प्रबंधक तस्दुक हुसैन ने बताया कि लोक परिवहन की बस संख्या आरजे 14 पीडी 2284, आरजे 30 पीए 2498, आरजे 27 पीए 8481, आरजे 27 पीए 8412, आरजे 27 पीए 8690, आरजे 27 पीए 8691, आरजे 27 पीए 8687 और आरजे 27 पीए 8676 बस की परमिट उदयपुर आरटीओ से प्राप्त है। वहीं जिले में आरजे 27 पीए 300, 9054, 8688, 8683, 8668, 8696 और 8689 बसों की परमिट भी नहीं है।

लोक परिवहन की 7 बसें अवैध संचालित हो रही है। जिसके लिए परिवहन विभाग से कोई परमिट नहीं है। वही शेष 8 बसों के लिए एकल सेवा की परमिशन है जबकि दिनभर में छह से आठ ट्रिप काटते हैं। इसके लिए परिवहन विभाग को पत्र भी लिख चुके है। आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। अब सारे परमिट कागज और बसों के नंबर कलेक्टर के समक्ष रखेंगे। - तस्दुक हुसैन, मुख्य प्रबंधक रोडवेज डूंगरपुर

लोक परिवहन सेवा की मंजूरी सरकार स्तर पर जयपुर से दी गई है। हमारे पास इसके संबंधित कोई जानकारी नहीं है। प्रादेशिक परिवहन कार्यालय जयपुर से बसे सीज करने के आदेश मिले तो कार्रवाई होगी। - अनिल माथुर, डीटीओ डूंगरपुर।

खबरें और भी हैं...