पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • बच्चों को स्कूल आने जाने के लिए मिलेगा किराया

बच्चों को स्कूल आने-जाने के लिए मिलेगा किराया

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर संवाददाता | डूंगरपुर

ग्रामीण क्षेत्र के बच्चों के लिए अच्छी खबर है। वे बच्चे जो सरकारी स्कूल में पढ़ते हैं और उनका स्कूल उनके घर से एक से दो किलोमीटर से अधिक दूर है। सरकार ऐसे सभी छात्र-छात्राओं को स्कूल में आने-जाने के लिए किराए के रूप में नकद राशि देगी। यह फायदा कक्षा एक से 8 में पढ़ाई कर रहे बच्चों को मिलेगा। यह कदम सरकारी स्कूलों में नामांकन बढ़ाने व ठहराव सुनिश्चित करने के लिए उठाया गया है। सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले कक्षा एक से 5 तक के प्रत्येक छात्र- छात्रा को स्कूल घर से 1 किलोमीटर से दूर होने पर प्रतिदिन 10 रुपए मिलेंगे। वहीं, कक्षा 6 से 8वीं में अध्ययनरत छात्र-छात्रा का स्कूल यदि 2 किलोमीटर से ज्यादा दूरी पर है तो सरकार उसे प्रतिदिन 15 रुपए स्कूल आने-जाने के लिए किराए के रूप में देगी। कक्षा 6 से आठ तक के बच्चों को यह किराया तभी मिलेगा जब उनका स्कूल दो किमी से ज्यादा दूर होगा। यह सुविधा ग्रामीण क्षेत्रों में सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को ही देय होगी।

नामांकन व बच्चों का ठहराव बढ़ाने के लिए शुरू की योजना
इस योजना से नामांकने बढ़ेगा और ठहराव भी तय हो सकेगा। सरकार के स्पष्ट निर्देश हैं कि बच्चों को राशि का भुगतान अग्रिम ही हो, भले ही किसी भी मद से करना पड़े। बच्चे के अभिभावक के खाते में संबंधित माह के वर्किंग डे के हिसाब से पैसा डाल दिया जाएगा। यदि बच्चा कम दिन स्कूल आता है तो अगले माह उतने पैसे कम दिए जाएंगे।

सरकारी स्कूलों में एक से 5वीं तक के बच्चे को एक किमी और 6 से 8 के लिए दो किमी की दूरी पर फायदा
पीईईओ के हस्ताक्षर के बाद ही डीईओ जारी करेंगे राज्य से बाहर जाने वाले बच्चों को टीसी
डूंगरपुर। जिले में पढ़ रहे छात्रों के राज्य से बाहर पढ़ने जाने की स्थिति में स्कूलों से दी जाने वाली टीसी संबंधित पीईईओ के हस्ताक्षर के बाद ही डीईओ प्रति हस्ताक्षर (काउंटर सिग्नेचर) करेंगे। जिले के समस्त सरकारी एवं निजी स्कूल छात्रों के राज्य के बाहर जाने की स्थिति में स्थानातंरण प्रमाण पत्र टीसी स्कूल अध्ययन प्रमाण पत्र एवं शिक्षकों के अनुभव प्रमाण पत्र संबंधित प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी के हस्ताक्षर के बाद ही प्रतिहस्ताक्षर के लिए डीईओ के पेश करना होगा। अन्यथा डीईओ प्रति हस्ताक्षर नहीं करेंगे।

खबरें और भी हैं...