पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • ड्राइविंग स्कूल संचालन के लिए परिवहन विभाग केे नए नियम

ड्राइविंग स्कूल संचालन के लिए परिवहन विभाग केे नए नियम

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर न्यूज | गंगापुर सिटी

अब ड्राइविंग स्कूल चलाना आसान नहीं है। इसके लिए परिवहन विभाग ने नए नियम कायदे तय किए हैं। अभी तक बिना किसी नियम और सिस्टम के ड्राइविंग स्कूलों का संचालन किया जा रहा है।

अब अगर इसी ढर्रे पर स्कूल चले तो मान्यता निरस्त कर अवैध घोषित कर दिया जाएगा। परिवहन विभाग ने ड्राइविंग स्कूल की नई पॉलिसी तय की है। इसमें अधिकतर नियमों में बदलाव कर नए नियम जोड़ दिए गए हैं।

खास बात ये है कि अब तक 10वीं पास व्यक्ति ही ड्राइविंग स्कूल चला लेता था, लेकिन अब ग्रेजुएट ही स्कूल चला सकेगा। नई पालिसी में ड्राइविंग स्कूल में रिसेप्शन, ऑफिस, क्लास रूम, चार्ट व मॉडल्स रूम और रिपेयरिंग वर्कशॉप होना जरुरी है। यानी इसके लिए कम से कम पांच रूम तो होने ही चाहिए। इसके अलावा संचालक या ट्रेनर के पास संबंधित डिप्लोमा होना चाहिए। बताया जा रहा है कि गाइडलाइन इतनी सख्त है कि प्रदेश के कई ड्राइविंग स्कूल बंद हो जाएंगे।

बदलाव

अगर इसी ढर्रे पर स्कूल चले तो मान्यता निरस्त कर अवैध घोषित कर दिया जाएगा

यह होना चाहिए ड्राइविंग स्कूल में

कंप्यूटर मय प्रिंटर, इंटरनेट कनेक्शन, टच स्क्रीन कियोस्क, थंब इम्प्रेशन डिवाइस, सिग्नेचर कैप्चर डिवाइस, ब्लैक बोर्ड। ऑटोमेटिक सिंगल्स का चार्ट व ट्रैफिक पुलिस द्वारा हाथ से दिए जाने वाले सिंगल्स के चार्ट, मोटर यान के सभी कम्पोनेंट वितरण प्रदर्शित करने वाला सर्विस चार्ट।

कंप्यूटर से जुड़ा सेटअप जरूरी

पंचर किट, टायर लीवर, व्हील बैस, जैक व टायर प्रेशर गेज, टूल किट का सैट, ड्राइवर इंस्ट्रक्शन मैन्युअल, कुर्सी, टेबल व फर्नीचर। उचित मानक के जीपीएस का वितरण होना व 50 हजार धरोहर राशि का डीडी, अनुदेशक की तकनीकी योग्यता एक वर्ष से हटाकर न्यूनतम 3 वर्षीय डिप्लोमा जरुरी।

नई गाइड लाइन में ये नियम जोड़े

वर्ष 2011 की गाइडलाइन में स्वागत कक्ष व कार्यालय को लेकर कोई नियम नहीं थे। अब 180 वर्ग फीट का कार्यालय होना जरुरी है। व्याख्यान कक्ष व चार्ट, मॉडल्स व उपकरण कक्ष भी अलग-अलग 300 वर्ग फीट के होने चाहिए। वाहनों की पार्किंग की व्यवस्था में पहले कोई पॉलिसी नहीं थी, जिसे बदलकर अब प्रशिक्षण वाहनों की पार्किंग स्वयं की ओर किराया नामा व लीज न्यूनतम तीन वर्ष की होनी चाहिए।

इस बारे में डीटीओ का कहना है कि अब तक 10वीं पास ड्राइविंग स्कूल चला लेता था लेकिन अब ग्रेजुएट ही स्कूल चला सकेगा। इस संबंध में नोटिफिकेशन जारी हो गया है। आदेश मिलते ही नए नियमों की पालना कराई जाएगी।

खबरें और भी हैं...