पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Gaya
  • स्कूलों में 20 अगस्त से शुरू हो जाएगा तरंग सत्र

स्कूलों में 20 अगस्त से शुरू हो जाएगा तरंग सत्र

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जिले के उत्क्रमित माध्यमिक विद्यालयों में 20 अगस्त से तरंग किशोरवस्था कार्यक्रम की शुरूआत हो जाएगी। सप्ताह में एक दिन कक्षा छह, सात और आठ में इस सत्र का संचालन किया जाएगा। पटना से आए तरंग के कार्यक्रम पदाधिकारी संजय कुमार सिंह ने नोडल शिक्षकों को ये जानकारी दी। उन्होंने कहा कि नौवीं से नीचे कक्षा के बच्चों को शारीरिक और मानसिक बदलाव की सही जानकारी नहीं हो पाती है जिसके चलते वे अपने साथियों में इसकी चर्चा करते हैं या फिर विभिन्न स्रोतों से भ्रामक और गलत जानकारी प्राप्त करते हैं। इस कारण से उनका व्यक्तित्व प्रभावित हो रहा था। इन आवश्यकताओं को देखते हुए सरकार ने कक्षा छह, सात और आठवीं में इस कार्यक्रम को क्रियान्वित करने का निर्णय लिया गया है। बताया कि पायलट प्रोजेक्ट के रूप में गया, पटना और नालंदा में कार्यक्रम की शुरूआत की गई है।

पायलट प्रोजेक्ट के तहत गया समेत बिहार के तीन जिलों में शुरू हुआ है काम, सेंट्रल टीम कर रही है बेस लाइन सर्वे

कार्यक्रम पदाधिकारी संजय कुमार सिंह ने नोडल शिक्षकों को जानकारी दी।

तर्कपूर्ण जानकारी देकर दूर करें बच्चों की जिज्ञासा

डीपीओ कुमारी रजनी अम्बष्ठा ने नोडल शिक्षकों को संबोधित करते हुए कहा कि आपलोग अच्छी तरह से प्रशिक्षण प्राप्त कर अपने स्कूलों में इसे मूर्त रूप दें। कहा कि आजकल शोषण व उत्पीड़न की घटनाएं में बढ़ोतरी हो रही है। मिडिल स्कूल के बच्चों को भी सचेत रहना जरूरी है।

स्वयं को सुरक्षित रखने के बताए गए तरीके | छात्र-छात्राएं विपरीत परिस्थितियों में अपने-आप को कैसे सुरक्षित रखें इसके बारे में बताया गया। इसके अलावे सामाजिक कुरीतियां, बाल विवाह, दहेज प्रथा, घरेलू हिंसा, इंटरनेट के खतरे, साइबर क्राइम, संक्रमणीय रोग, स्वच्छता व पर्यावरण आदि पर चर्चा की गई।

व्यवहार से असहज महसूस करने पर तुरंत करें चर्चा

नोडल शिक्षकों बताया गया कि वे छात्र-छात्राओं को इन बातों के प्रति सजग करें। किसी के द्वारा किया गया छोटे से छोटा व्यवहार जिससे आप असहज महसूस करते हों तो उसे अनदेखा नहीं करें बल्कि सतर्क रहने के साथ किसी विश्वसनीय व्यक्ति से बताएं।

खबरें और भी हैं...