पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • बैरागढ़ और कोलार की हवा भी प्रदूषित, इसके लिए दोषी मोटे धूल कणों की मात्रा हुई दोगुनी, वजह... बढ़ते वाहनों का धुआं

बैरागढ़ और कोलार की हवा भी प्रदूषित, इसके लिए दोषी मोटे धूल कणों की मात्रा हुई दोगुनी, वजह... बढ़ते वाहनों का धुआं

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भोपाल | एन्वायर्नमेंट रिपोर्टर

बीते तीन महीनोंं के दौरान शहर की हवा की स्थिति खराब हो गई है। हमीदिया रोड के साथ ही बैरागढ़, गोविंदपुरा, कोलार रोड और होशंगाबाद में मोटे धूल कण यानी पीएम-10 की मात्रा तय मानक से डेढ़ से दो गुना तक दर्ज की गई है। वायु प्रदूषण के लिहाज से सबसे ज्यादा खराब स्थिति जनवरी में रही। इस महीने बैरागढ़, गोविंदपुरा और कोलार रोड में पीएम-10 की मात्रा 200 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर से ऊपर तक पहुंच गई थी। जबकि मानक के अनुसार इस प्रदूषक की मात्रा 100 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर से अधिक नहीं होनी चाहिए।

मध्यप्रदेश प्रदूषण नियंत्रण मंडल ने पिछले तीनों महीनों की जो मॉनीटरिंग रिपोर्ट जारी की उसमें शहर की हवा की स्थिति चिंताजनक मानी गई है। एयर क्वालिटी इंडेक्स मॉडरेट बताया गया है जो संतोषजनक और खराब के बीच की स्थिति है।

रिपोर्ट के अनुसार इन तीन महीनो में पीएम-10 की न्यूनतम मात्रा भी मानक से अधिक रही है। कोलार थाना क्षेत्र के आसपास तो जनवरी में ही तीन दिन पीएम 10 की मात्रा 200 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर से अधिक दर्ज की गई थी। इसका कारण शहर में बढ़ते वाहनों की संख्या को माना जा रहा है। आरटीओ से मिली जानकारी के अनुसार इस समय शहर में 15 लाख से अधिक वाहन सड़कों पर दौड़ रहे हैं। यह संख्या पिछले सालों में बढ़ी है।

वायु प्रदूषण के लिहाज से सबसे ज्यादा खराब स्थिति जनवरी की, तीन महीने की मॉनिटरिंग रिपोर्ट में भी चिंताजनक बताई गई है स्थिति
विभिन्न स्थानों से दर्ज पीएम-10 की अधिकतम मात्रा (माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर में)
मार्च

लोकेशन अधिकतम
सिविल हॉस्पिटल बैरागढ़ 176.9

सीईटीपी गोविंदपुरा 149

कोलार थाना 179.6

मृगनयनी हमीदिया रोड 181.2

बीयू होशंगाबाद रोड 163.7

वाहनों की बढ़ती संख्या से बढ़ा प्रदूषण
शहर में वाहनों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। वाहनों के लगातार सड़कों पर दौड़ने के कारण सड़कों के धूलकण भी वातावरण में फैलते हैं। यही कारण है कि शहर की हवा दूषित हो रही है। शहर में बढ़ते वायु प्रदूषण को रोकने के लिए वाहनों की संख्या पर रोक लगाने की जरूरत है। - आरपी मिश्रा, चीफ साइंटिस्ट, केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण मंडल

फरवरी

लोकेशन अधिकतम
सिविल हॉस्पिटल बैरागढ़ 185.6

सीईटीपी गोविंदपुरा 162.4

कोलार थाना 192.8

मृगनयनी हमीदिया रोड 201.0

बीयू होशंगाबाद रोड 178.4

जनवरी

लोकेशन अधिकतम
सिविल हॉस्पिटल बैरागढ़ 204.0

सीईटीपी गोविंदपुरा 233.8

कोलार थाना 225.4

मृगनयनी हमीदिया रोड 185.2

बीयू होशंगाबाद रोड 181.3

खबरें और भी हैं...