पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • पीओपी की प्रतिमाएं अभी से बनना रोकें तो बचा लेंगे जलाशय

पीओपी की प्रतिमाएं अभी से बनना रोकें तो बचा लेंगे जलाशय

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
प्लास्टर ऑफ पेरिस (पीओपी) की प्रतिमाओं पर नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल की रोक का शहर में कोई असर दिखाई नहीं दे रहा है। जलाशयांे एवं पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने वाली इन प्रतिमाओं का निर्माण खुलेआम हो रहा है। जिन विभागों पर इसके खिलाफ कार्रवाई का जिम्मा है, उन्होंने अभी तक कोई रणनीति तय नहीं की है। प्रशासन इसी तरह चुप्पी साधे रहा तो इस बार भी बड़ी संख्या में मूर्तियों को बनने से रोक पाना मुश्किल होगा।

उल्लेखनीय है कि 13 सितंबर से गणेश उत्सव प्रारंभ होगा। मप्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने इस मुद्दे पर 2 अगस्त को नगर निगम को पत्र लिखा है। इसमें केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) द्वारा दिए गए दिशा-निर्देश की जानकारी दी है। वहीं भास्कर की पड़ताल में ये बात सामने आई कि शहर के ही कई हिस्सों में चोरी-छिपे बड़ी संख्या में पीओपी की प्रतिमाओं का निर्माण शुरू हो चुका है। हालांकि इस बार प्रतिमाएं शहर के बाहरी हिस्से में ज्यादा बन रही है ं।

जलाशयों में फिर जहर घोलने की तैयारी, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने लिखा है निगम को पत्र

हुजरात कोतवाली के सामने मिट्‌टी के गणेश की प्रतिमा बनाती महिला।

पानी को जहरीला बना देता है रंग

पीओपी की प्रतिमाओं को आकर्षक बनाने के लिए जिस रंग का प्रयोग किया जाता है, उसके कैमिकल से जल स्रोतों का पानी विषैला हो जाता है और इसमें रहने वाले जलीय जीव मर जाते है। साथ ही पीओपी गलने में भी बहुत समय लेता है।

शहर में 900 से अधिक लगते हैं गणेश पंडाल

शहर में छोटी-बड़ी मिलाकर लगभग एक लाख गणेश प्रतिमाओं की बिक्री शहर में होती है। वहीं शहर में छोटे-बड़े मिलाकर 900 से अधिक जगह पंडाल लगाए जाते हैं। घरों में रखी जाने वाली छोटी प्रतिमाओं के विसर्जन के लिए नगर निगम ने अलग-अलग क्षेत्रों में विसर्जन रथ निकाले थे, जिनमें पानी भरे ड्रम रखे थे, उन्हीं में यह प्रतिमाएं विसर्जित की गई। वहीं बड़ी प्रतिमाओं के विसर्जन के लिए जनकताल और सागरताल निर्धारित किए गए थे। कुछ लोगों ने रमौआ बांध में भी बड़ी प्रतिमाएं विसर्जित कर दी थीं। यह प्रतिमाएं पीआपी की थीं, जो लंबे समय तक गली नहीं थीं।

मिट्‌टी की मूर्ति के लिए प्रेरित करेंगे

हम इस बार भी नगर निगम और जिला प्रशासन के साथ मिलकर कार्रवाई करेंगे। जनजागरण अभियान चलाकर लोगों को मिट्टी से बनी मूर्तियां खरीदने के लिए प्रोत्साहित करेंगे। छोटी प्रतिमाओं के विसर्जन के लिए पहले की तरह रथ भी शहर में चलाएंगे। एनपी सिंह, क्षेत्रीय अधिकारी, मप्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड

जब्त करेंगे पीओपी की प्रतिमाएं

पीओपी की प्रतिमाओं के खिलाफ जल्द ही अभियान चलाकर उन्हें जब्त किया जाएगा। इस तरह की प्रतिमाएं बनाना प्रतिबंधित है, इसलिए इनकी बिक्री नहीं होने देंगे। सतपाल चौहान, नोडल अधिकारी, मदाखलत, निन

खबरें और भी हैं...