पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • न्यूनतम समर्थन मूल्य के नाम पर सरकार ने सदैव की धोखाधड़ी : रेनुका

न्यूनतम समर्थन मूल्य के नाम पर सरकार ने सदैव की धोखाधड़ी : रेनुका

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मंडी आदमपुर सिटी | फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य में वृद्धि का हो-हल्ला मचा रही भाजपा सरकार 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का दावा कर रही है, परंतु यह भी हर व्यक्ति को 15 लाख, काला धन, 2 करोड़ नौकरियों की तरह फैलाया जा रहा एक और झूठ है। न्यूनतम समर्थन मूल्य के नाम पर भाजपा सरकार ने किसानों के साथ सदैव धोखाधड़ी की है। यह बात शनिवार को हांसी की विधायक रेनुका बिश्नोई ने आदमपुर हलके के गांव सलेमगढ़, काबरेल, खारिया, सुंडावास, पिरांवाली, ढंढूर मंगाली में विभिन्न कार्यक्रमों में शिरकत करते हुए कही। उन्होंने कहा कि भाजपा ने कृषि लागत का आंकलन कृषि लागत एवं मूल्य आयोग की 2018-19 की सिफारिशों के आधार पर न करके 2017-18 के आधार पर किया गया है। इस एक साल की अवधि में डीजल से लेकर खाद-बीज, कीटनाशक, बिजली, कृषि उपकरणों इत्यादि की कीमतों में हुई वृद्धि को भाजपा ने चालाकी से दरकिनार कर दिया है, जबकि किसान को तो इन सब पर वर्तमान कीमतें चुकानी पड़ रही हैं।

खबरें और भी हैं...