पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • ‘सुबह अच्छी तो दिन अच्छा’ कार्यक्रम मेंं सरकारी स्कूलों के स्टूडेंट्स आर्टिकल लिखकर बनेंगे स्टाफ ऑफ द मंथ

‘सुबह अच्छी तो दिन अच्छा’ कार्यक्रम मेंं सरकारी स्कूलों के स्टूडेंट्स आर्टिकल लिखकर बनेंगे स्टाफ ऑफ द मंथ

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सरकारी स्कूलों के स्टूडेंट्स में आत्मविश्वास जगाने, स्टडी के तरीकों में सुधार व उनमें नैतिक मूल्यों का विस्तार करने के लिए शिक्षा विभाग “सुबह अच्छी तो दिन अच्छा’ कार्यक्रम की शुरुआत कर रहा है। 15 अगस्त से स्कूलों में शुरू होने वाले इस कार्यक्रम में स्टूडेंट्स को विभिन्न विषयों पर लेख लिखने होंगे। इनमें से बेस्ट आर्टिकल्स को स्कूलों के नोटिस बोर्ड पर चस्पा किया जाएगा। जो स्टूडेंट्स सबसे अच्छे लेख लिखेंगे, उन्हें स्कूल की ओर से “स्टार ऑफ द मंथ’ चुना जाएगा। इसके साथ स्टूडेंट्स को इंस्पायर करने के लिए स्टूडेंट्स की फोटो व नाम स्कूल के नोटिस बोर्ड पर भी चस्पा किए जाएंगे। स्टूडेंट्स कविता पाठ, समाचार-पत्र वाचन, प्रश्नोत्तरी, वाद-विवाद व भाषण आदि विधाओं में आर्टिकल लिख सकते हैं।

शिक्षा विभाग सरकारी स्कूलों में शुरू करेगा कार्यक्रम, विभिन्न टॉपिक्स पर स्टूडेंट्स लिख पाएंगे आर्टिकल

दिसंबर तक का शेड्यूल तैयार, इन टॉपिक्स पर बना सकते हैं आर्टिकल्स

शिक्षा विभाग ने आर्टिकल्स के लिए अगस्त से दिसंबर तक का शेड्यूल तैयार किया है। इनमें प्रत्येक मंथ में तीन से 6 टॉपिक्स रखे गए हैं। जिन पर स्टूडेंट्स अपने लेख लिख सकते हैं।

अगस्त

15 से 18 अगस्त - इंपोर्टेंस ऑफ इंडिपेंडेंस

20 से 25 अगस्त - रोल ऑफ डिफेंस

27 से 01 सितंबर- इंटरनेशनल थ्रेट-आतंकवाद

सितंबर

3 से 7 सितंबर - मॉनूमेंट्स इन इंडिया

10 से 15 सितंबर - कल्चरल हैरिटेज ऑफ हरियाणा

17 से 22 अक्टूबर- मोरल वेल्यू

अक्टूबर

1 से 6 अक्टूबर - महात्मा गांधी

8 से 12 अक्टूबर - कल्पना चावला

15 से 20 अक्टूबर - दशहरा

22 से 27 अक्टूबर - माय फेवरेट फेस्टिवल

29 से 3 नंवबर- द जॉय ऑफ शेयरिंग

नवंबर

5 से 8 नवंबर - इको-फ्रेंडली दिवाली

12 से 17 नवंबर - रोल ऑफ पेरेंटस एंड टीचर्स

19 से 24 नवंबर - सेव द गर्ल चाइल्ड

26 से 1 दिसंबर- इविल्स इन इंडियन सोसायटी

दिसंबर

3 से 7 दिसंबर - पॉपुलेशन

10 से 15 दिसंबर - पॉवर्टी

17 से 22 दिसंबर - अनइंपलॉयमेंट

24 से 31 दिसंबर - हंगर

ये होगा फायदा

लेख लिखने से स्टूडेंट्स की लैंग्वेज पर पकड़ बनेगी। स्टूडेंट्स में रचनात्मकता का विकास होगा। स्टूडेंट्स सांस्कृतिक मूल्यों को गहराई से समझ पाएंगे।

ये मिले निर्देश

जो स्टूडेंट्स प्रार्थना सभा में भाग नहीं ले पाएंगे वो जॉयफुल सैटरडे के दिन अपने ग्रुप के अनुसार भाग ले सेकेंगे।

स्कूल टीचर्स भी सप्ताह में एक दिन लाइब्रेरी में जाकर पुस्तकें पढ़ेंगे, ताकि स्टूडेंट्स भी पुस्तकें पढ़ने के लिए इंस्पायर हो।

स्टूडेंट्स के द्वारा लिखे गए टॉपिक्स को हर महीने एकत्रित करके उन्हें लाइब्रेरी में रखा जाएगा, ताकि दूसरे स्टूडेंट्स भी उन्हें पढ़ पाए।

कार्यक्रम में प्रत्येक स्टूडेंट्स को थीम आधारित लेख तैयार करने होंगे। यह किसी भी लैंग्वेज में तैयार किये जा सकते है। दूसरे सेशन में टीचर्स ब्लैकबोर्ड पर 5 से 7 प्रश्न लिखेंगे। ये प्रश्न सामान्य ज्ञान, समकालीन विषयों, सांस्कृतिक, विरासत, अंतरराष्ट्रीय, राष्ट्रीय व स्थानीय घटनाक्रम पर आधारित हो।

शिक्षा विभाग की स्टूडेंट्स के लिए अच्छी पहली है। इससे स्टूडेंट्स में लेख लिखने की कला विकसित होगी, जो अागे चलकर उनके कॅरिअर में भी काफी सहयोग देगी।\\\'\\\' -बलजीत सहरावत, डीईओ, हिसार।

इंस्पायर करने को स्टूडेंट्स की फोटो व नाम स्कूल के नोटिस बोर्ड पर भी चस्पा किए जाएंगे

खबरें और भी हैं...