पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • क्राइम कंट्रोल और ट्रैफिक नियमों की निगरानी के लिए उठाया कदम

क्राइम कंट्रोल और ट्रैफिक नियमों की निगरानी के लिए उठाया कदम

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
आपराधिक वारदातें रोकने के लिए नगर निगम और यातायात पुलिस मिलकर 84 स्थानों पर कैमरे लगाने की तैयारी में है। इसके लिए मंगलवार को लघु सचिवालय सभागार में शहर की प्रमुख संस्थाओं व एसोसिएशनों को बुलाया गया। सभी से निगम कमिश्नर अशोक बंसल ने सीएसआर के तहत कैमरे लगवाने की अपील की।

चूंकि मामला सुरक्षा से जुड़ा है तो संस्थाओं ने 4 से 5 कैमरे लगाने के लिए आश्वासन भी दे दिया। इसमें एक कैमरे के लिए अनुमानित 20 हजार रुपए बेस प्राइस रखा गया। इसमें सब्जी मंडी चौक, लाहौरिया चौक, ऑटो मार्केट, क्लॉथ मार्केट, तलाकी गेट, जहाजपुल आदि स्थानों पर संस्थाओं के पदाधिकारियों को कैमरे लगाने के लिए कहा गया। नगर निगम कमिश्नर अशोक बंसल ने कहा कि शहर में होने वाली चोरी, डकैती, मारपीट, छीना-झपटी आदि आपराधिक घटनाओं और ट्रैफिक नियमों के उल्लंघन पर अंकुश लगाने के उद्देश्य से नगर निगम एवं जिला पुलिस के साथ लोगों की भागीदारी भी जरूरी है।

पहले दुष्यंत ने 15 लाख के लगवाए थे 42 सीसीटीवी, अब संस्थाओं के पदाधिकारी बोले- कैमरे तो लगवा दें, देखरेख कौन करेगा

सिटी में बंद 42 कैमरों की मेंटिनेंस नहीं, 84 नये प्वाइंट्स पर कैमरे लगाने के लिए संस्थाओं से मदद मांग रहा निगम

लघु सचिवालय सभागार में व्यापारियों को कैमरे लगाने के लिए जानकारी देते नगर निगम कमिश्नर व अन्य अधिकारी।

15 लाख रुपए के कैमरे जले, मेंटिनेंस भी नहीं दे सका निगम

सांसद दुष्यंत चौटाला ने सांसद निधि से 15 लाख रुपए में 42 स्थानों पर अत्याधुनिक सीसीटीवी कैमरे लगवाए। इसमें से 18 कैमरे से जिस दिन से लगे उस दिन से बंद हैं, वहीं कई कैमरे देखरेख की कमी की वजह से जल गए तो कुछ को बिजली का कनेक्शन नहीं दिया। नए कैमरे लगने के बावजूद किसी ने इसके मेंटिनेंस की तरफ ध्यान नहीं दिया। अब इनमें से अधिकांश बंद पड़े हैं। अब नगर निगम करीब 13 लाख रुपए सांसद से कैमरों की मेंटिनेंस के लिए डिमांड कर रहा है।

प्रत्येक तीन चौकों पर बनेगा कंट्रोल रूम

प्रत्येक दो या तीन चौकों पर लगने वाले सीसीटीवी कैमरों के लिए एक-एक कंट्रोल रूम स्थापित किया जाएगा, इसमें इन कैमरों में कैद होने वाली हर गतिविधि का रिकॉर्ड रखा जाएगा। जिन चौकों पर कैमरे लगाए जाने हैं, उनकी पहचान कर ली गई है। इस कार्य में संस्थाएं मिलकर भी किसी एक चौक पर सीसीटीवी कैमरे लगवा सकती हैं।

यह भी जानिए

एक-दो साल कंपनी करेगी देखरेख : निगम कमिश्नर

संस्थाओं व व्यापारियों ने नगर निगम कमिश्नर व यातायात पुलिस के अधिकारियों से कहा कि आपकी डिमांड पर हम कैमरे तो लगा देंगे मगर इनकी देखभाल नहीं हुई तो यह खराब हो जाएंगे। इसकी देखभाल कौन करेगा, इस पर निगम कमिश्नर ने कहा कि पहले तो जो कंपनी लगवाएगी वही 1 या 2 वर्ष तक मेंटिनेंस देगी, फिर निगम को ही जिम्मेदारी संभालनी होगी।

खबरें और भी हैं...