पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Hoshangabad
  • कृष्णकांत के दिल में छेद, चार माह बाद कराया ऑपरेशन

कृष्णकांत के दिल में छेद, चार माह बाद कराया ऑपरेशन

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
समीपस्थ ग्राम पांजरा निवासी आठ वर्षीय कृष्णकांत के माता-पिता बालक की बीमारी को लेकर कई दिनों से चिंतित थे। अशिक्षित एवं गरीब तबके से होने के कारण परिजन वास्तविक बीमारी की जांच तक नहीं कर पा रहे थे। इलाज के लिए स्थानीय स्तर तक सीमित थे। सरकार द्वारा चलाए जा रहे राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम (आरबीएसके) टीम में फार्मासिस्ट प्रियांशा चौबे एवं एएनएम राजकुमारी अहिरवार ने गांव में भ्रमण किया। स्क्रीरिंग जांच से बालक के दिल में समस्या का पता लगाया। आगामी जांच के लिए पालकों को काफी समझाइश दी, लेकिन परिजन टीम की बात मानने को तैयार नहीं हुए। चार माह तक स्थिति और भी गंभीर हो गई। लोकल डॉ. ने तत्काल ऑपरेशन की समझाइश दी। जनवरी माह में टीम ने पुनः समझाइश देकर इलाज के लिए पिता पंचम सिंह को सहमत किया। जिला चिकित्सालय होशंगाबाद लेकर जाकर बालक की इको जांच से दिल में छेद की पुष्टि की। फार्मासिस्ट प्रियांशा चौबे ने बताया गंभीर स्थिति में बालक के परिजन ऑपरेशन के लिए तैयार हुए। डॉ. ने यहां तक कह दिया कि ऑपरेशन के दौरान भी बालक की जान जा सकती है। टीम ने बालक के ऑपरेशन के लिए बैंगलोर ले जाने की तैयार कर ली। स्थिति बिगड़ने पर चिरायु हास्पिटल में भर्ती करके ऑपरेशन कराया। करीब ढाई लाख रुपए खर्च हुए जो सरकार ने वहन किया। बालक मार्च में हॉस्पिटल से रिलीव हुआ। अब अन्य बच्चों के भांति स्वस्थ और तंदुरूस्त होने लगा है। माता-पिता भी बेहद खुश हैं। बीएमओ डॉ. जेएस परिहार ने बताया यह सरकार का बहुत बड़ा कार्यक्रम है। इसमें 18 साल तक के बच्चों की चिन्हित गंभीर बीमारियों का निशुल्क इलाज सरकार कराती है।

खबरें और भी हैं...