पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Hoshangabad
  • विस चुनाव के लिए गर्ल्स कॉलेज में बनेगा स्ट्रॉन्ग रूम

विस चुनाव के लिए गर्ल्स कॉलेज में बनेगा स्ट्रॉन्ग रूम

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर संवाददाता | होशंगाबाद

अागामी विस चुनाव में गर्ल्स कॉलेज को मतगणना केंद्र बनाया जाएगा। कलेक्टर प्रियंका दास ने गर्ल्स कालेज का निरीक्षण कर वहां मतगणना केंद्र बनाने के लिए व्यवस्थाओं का जायजा लिया। विधानसभा चुनाव 2018 में मतगणना केंद्र गर्ल्स काॅलेज में बनाया जाएगा। यहां पर जिले की चारों विधानसभाओं की ईवीएम के लिए स्ट्रॉन्ग रूम और मतगणना कक्ष बनाए जाएंगे। साथ ही कंट्रोल रूम एवं मीडिया कक्ष भी बनाया जाएगा। निरीक्षण के दौरान एडीएम केडी त्रिपाठी, उप जिला निर्वाचन अधिकारी आदित्य रिछारिया, प्राचार्य डॉ. कामिनी जैन उपस्थित रहीं।

अक्षय ऊर्जा

सौर ऊर्जा से रोशन होंगे जिले के 10 कॉलेज, बनेगी बिजली

प्रस्ताव भेजने के बाद संयंत्र लगाने का काम शासन से निर्धारित संस्था करेगी

भास्कर संवाददाता | होशंगाबाद

उच्च शिक्षा विभाग ने कॉलेजों को सौर ऊर्जा से रोशन कर अक्षय ऊर्जा के स्रोतों को बढ़ावा देने की तैयारी कर ली है। प्रदेश के 293 कॉलेजों में सौर पावर प्लांट लगाए जाएंगे। इनमें होशंगाबाद जिले के 10 सरकारी कॉलेज भी शामिल हैं। अग्रणी कॉलेज की प्राचार्य डॉ. कामिनी जैन ने बताया सौर ऊर्जा प्लांट लगाने के लिए कॉलेज स्टाफ की बैठक कर रिपोर्ट उच्च शिक्षा विभाग को प्रस्तुत करने के निर्देश मिले हैं। प्रस्ताव भेजने के बाद संयंत्र लगाने का काम शासन से निर्धारित संस्था करेगी। इससे बिजली व्यय को सौर ऊर्जा में बदला जा सकेगा। संयंत्र लगने के बाद कॉलेज में व्यय होने वाली बिजली कॉलेज में ही सौर ऊर्जा से तैयार हो सकेगी। जिले के चिंहित कॉलेजों में प्रस्ताव तैयार किए जा रहे हैं। सोलर प्लेट लगने से काॅलेजों में बिजली बने और बिल बचेगा।

प्रदेश के 293 कॉलेजों में सौर पावर प्लांट लगाए जाएंगे, जिले के चिंहित कॉलेजों में तैयार किए जा रहे प्रस्ताव

ऐसे किफायती होगा सौर ऊर्जा प्लांट

प्लांट लगाने कॉलेजों को केंद्र और प्रदेश सरकार से छूट का प्रावधान होगा जिससे प्लांट की स्थापना पर होने वाले खर्च में कमी आएगी।

10 हजार रुपए का बिल जिन कॉलेजों का आता है उन्हें 10 किलोवाट का प्लांट लगाना होगा।

1 किलोवाट की बिजली के लिए 100 वर्ग फिट जगह लगेगी, ऐसे में एक हजार से 2000 वर्ग फिट के कैंपस में सोलर प्लांट लग सकेंगे।

1 से 10 किलोवाट बिजली का खर्च 66 रुपए प्रति किलोवाट, 10 से 100 किलोवाट बिजली के खर्च पर 55 रुपए प्रति किलोवाट और 100 से 500 किलोवाट बिजली पर 53 रुपए प्रतिकिलोवाट का खर्च होगा, जिससे कॉलेज बड़ी आर्थिक बचत कर सकेंगे।

इन कॉलेजों में लगेगा सौर पावर प्लांट

नर्मदा कॉलेज- 20 किलोवाट गर्ल्स कॉलेज होशंगाबाद- 25 किलोवाट एमजीएम कॉलेज इटारसी- 15 किलोवाट गर्ल्स कॉलेज इटारसी- 15 किलोवाट माखनलाल चतुर्वेदी कॉलेज बाबई - 15 किलोवाट शासकीय कॉलेज पचमढ़ी- 10 किलोवाट पीजी कॉलेज पिपरिया- 15 किलोवाट गर्ल्स कॉलेज पिपरिया- 10 किलोवाट शासकीय कॉलेज सिवनी मालवा- 10 किलोवाट सुखतवा कॉलेज- 10 किलोवाट।

खबरें और भी हैं...