पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • काम नहीं करने वाली 99 सहकारी साख संस्थाओं के रजिस्ट्रेशन हुए निरस्त

काम नहीं करने वाली 99 सहकारी साख संस्थाओं के रजिस्ट्रेशन हुए निरस्त

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
शिकायतें सुनने के लिए नियुक्त किए गए अधिकारी

भास्कर संवाददाता | इंदौर

सहकारिता विभाग ने काम नहीं करने वाली 99 सहकारी साख (क्रेडिट) संस्थाओं के पंजीयन निरस्त करने के आदेश जारी कर दिए हैं। साथ ही उन संस्थाओं का काम देखने के लिए विभाग के निरीक्षकों और आॅडिट अफसरों को नियुक्त कर दिया जो संस्थाओं के सदस्य रहे लोगों की किसी भी तरह की शिकायत आदि का निराकरण करेंगे।

जिले में 900 सहकारी साख (क्रेडिट) संस्थाएं हैं। इनमें 120 सहकारी साख संस्थाएं काम नहीं करते हुए अकार्यशील थीं। केवल उनका पंजीयन जीवित था। ये संस्थाएं न तो काम कर रही थीं और कई के कार्यालय ही नहीं खुलते थे। शुक्रवार को संयुक्त आयुक्त सहकारिता अभय खरे ने 120 में से 99 संस्थाओं के पंजीयन निरस्त करने के आदेश जारी कर दिए। सहायक आयुक्त सहकारिता सुरेश सांवले के मुताबिक इन सभी संस्थाओं के सदस्यों की कोई भी शिकायत सुनने के लिए विभाग के अफसरों को समानुदेशिती नियुक्त किया गया है।

कुछ प्रमुख संस्थाएं
जिन 99 संस्थाओं का पंजीयन निरस्त किया गया, उनमें कुछ प्रमुख संस्थाएं इस प्रकार हैं- कृषि महाविद्यालय कर्मचारी साख सहकारी संस्था, साईंनाथ परिवहन को-आॅपरेटिव यातायात सहकारी संस्था, मां बिजासन साख सहकारी संस्था, स्वर्गीय राजेश जोशी साख सहकारी संस्था, मां उमिया साख सहकारी संस्था, सत्यमित्र मर्केंटाइल साख संस्था, शुभ-लाभ साख सहकारी संस्था, सोनिया गांधी अल्पसंख्यक पिछड़ा वर्ग साख संस्था, सहकारी मुद्रणालय प्रकाशन सहकारी साख संस्था, वेदमाता गायत्री सहकारी साख संस्था, सियागंज साख सहकारी संस्था, मालवा सहकारी शक्कर कारखाना स्टाफ सहकारी साख संस्था, दि राजकुमार साख सहकारी संस्था, स्वदेशी मिल्स साख सहकारी संस्था, भारत उदय साख सहकारी संस्था, जैमिनी महिला साख सहकारी संस्था आदि।

खबरें और भी हैं...