पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • 1 अक्टूबर तक तैयार करना है ऑटोमेटेड फिटनेस सेंटर, अब तक राशि ही नहीं मिली

1 अक्टूबर तक तैयार करना है ऑटोमेटेड फिटनेस सेंटर, अब तक राशि ही नहीं मिली

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
इंदौर | आरटीओ में कमर्शियल वाहनों के फिटनेस टेस्ट के लिए 1 अक्टूबर तक ऑटोमैटेड फिटनेस ट्रैक बनाया जाना है। इस काम को पूरा करने के लिए अब दो माह भी नहीं बचे हैं, लेकिन अब तक राशि ही नहीं मिली है। इससे तय समय में काम शुरू होना मुश्किल है। पिछले साल केंद्र शासन ने आदेश जारी किए थे कि देश में कमर्शियल वाहनों का फिटनेस टेस्ट करने के लिए ऑटोमेटेड फिटनेस सेंटर बनाए जाएं। इसे लेकर जनवरी में इंदौर आरटीओ से इस सेंटर को बनाने के लिए जमीन की उपलब्धता की जानकारी भी मांगी गई थी। आरटीओ जितेंद्र रघुवंशी ने बताया कि जनवरी में भेजी गई जानकारी में बताया है कि सेंटर की जरूरत के हिसाब से इंदौर आरटीओ में तीन एकड़ जमीन उपलब्ध है। इस पर करीब 10 करोड़ रुपए तक खर्च होने का अनुमान है, लेकिन इसके बाद से कोई जानकारी नहीं मिली है। न ही कार्य को शुरू करने के लिए राशि मंजूर हुई है।

मशीनें करेंगी वाहन की जांच : ऑटोमेटेड फिटनेस सेंटर में वाहन की सभी तरह की जांच के लिए अलग-अलग मशीनें लगेंगी, जो वाहन की आंतरिक और बाहरी जांच करती हैं। इसमें यह तक देखा जाता है कि इंजन की हालत कैसी है। गाड़ी ज्यादा धुआं तो नहीं छोड़ रही, गर्म तो नहीं हो रही, व्हील बेस तक को चेक किया जाता है। वीडियोग्राफी की जाती है। इससे कोई भी अनफिट वाहन फिटनेस सर्टिफिकेट नहीं ले सकता।

खबरें और भी हैं...