पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • केसला से दिनेश 831 और डांडीवाड़ा से भूता 892 वोटों से बने सरपंच

केसला से दिनेश 831 और डांडीवाड़ा से भूता 892 वोटों से बने सरपंच

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
इटारसी तहसील में मंगलवार को आदिवासी ब्लाॅक की पंचायत केसला और डांडीवाड़ा के सरपंच पद के उपचुनाव के वोटों की गिनती हुई। सुबह 9 बजे से ईवीएम की वोटिंग की काउंटिंग हुई। तीन घंटे मतगणना चलने के बाद परिणाम आए। इसमें डांडीवाड़ा में भूता उइके ने श्यामवती बाई बारस्कर को 112 वोट से हराकर और केसला में दिनेश काजले ने 52 वोट से विमल सिंह भट्‌टी को हराकर सरपंच की कुर्सी काबिज की। 3 अगस्त को ईवीएम से उपचुनाव की वोटिंग हुई थी। सरपंच पद के उपचुनाव में ग्रामीणों ने नोटा का भी उपयोग किया। डांडीवाड़ा में 49 और केसला में 52 मतदाताओं ने नोटा बटन पर क्लिक कर वोट दिया। उपचुनाव में खड़े दोनाें प्रत्याशियों से गांव के 3-3 फीसदी मतदाता खुश नहीं हैं। वहीं आदिवासी पंचायत से नोटा के उपयोग करने वालों की संख्या बढ़ने से यह तथ्य सामने आया। एसडीएम आरएस बघेल ने कहा मतदाताओं ने प्रत्याशियों के अलावा नोटा बटन भी दबाई। इसका मतलब वे दोनों में किसी उम्मीदवार को अपना मत नहीं देना चाहते। निर्वाचन अधिकारी रीतू भार्गव मौजूद रहीं।

पूर्व सरपंच को सजा होने से हुए उपचुनाव

केसला व डांडीवाड़ा में उपचुनाव होने का कारण तत्कालीन पूर्व दोनों सरपंच को वन विभाग के जब्त लकड़ी उठाकर ले जाने के आरोप में सजा होना है। जानकारी के अनुसार करीब 15-16 साल पहले केसला में फॉरेस्ट ने चोरी की लकड़ी पकड़ी थी। तब जन संगठन के कुछ सदस्य फॉरेस्ट ऑफिस जाकर जब्त लकड़ी को ले आए थे। कुछ सदस्यों पर केस दर्ज हुआ। इसमें डांडीवाड़ा के रामप्रसाद बारस्कर व संभर सिंह भी आरोपी बने। कोर्ट केस चलते रहा। डांडीवाड़ा से रामप्रसाद व केसला से संभर सिंह ने चुनाव लड़ा और सरपंच बने। वर्ष 2017 में कोर्ट में वन विभाग के मामले का फैसला आया। जिसमें संभर सिंह व रामप्रसाद को सजा हुई व जेल जाना पड़ा।

वोटरलिस्ट में 21 तक दर्ज होंगे वोटरों के नाम

वोटरलिस्ट में पात्र मतदाताओं के नाम दर्ज करवाने तथा दोहरे व गलत नाम पर आपत्ति दर्ज कराने का कार्य 21 अगस्त तक शहरी व ग्रामीण क्षेत्र के हर पोलिंग बूथ पर किया जा रहा है। उन नए वोटरों के नाम भी जुड़ेंगे जो एक जनवरी 2018 को 18 साल की उम्र पूरी कर चुके हैं। निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी आरएस बघेल ने बताया कि मतदाता अपनी उम्र एवं निवास संबंधी दस्तावेज व पासपोर्ट साइज फोटो लेकर संबंधित मतदान केंद्र पहुंचें वहां प्रारूप छह फार्म भरकर अधिकारी के पास जमा करें।

यह रहे परिणाम

केसला

1610

डली वोट

831

जीते, दिनेश काजले

779

हारे, विमल सिंह भट्‌टी

51

नोटा

52

जीत-हार का अंतर

डांडीवाड़ा

1721

डली वोट

892

जीते भूता उइके

779

हार, श्यामवती बारस्कर

49

नोटा

112

जीत-हार का अंतर

खबरें और भी हैं...