पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • पिलानी में मानसून सी बारिश, 3 इंच पानी बरसा, मकराना झूंझुनू में ओले

पिलानी में मानसून सी बारिश, 3 इंच पानी बरसा, मकराना-झूंझुनू में ओले

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
शुक्रवार को बारिश से बचने के लिए लोग विधानसभा के पास पेड़ों के नीचे बचने का जुगाड़ करते रहे । फोटो - महेंद्र शर्मा

वैदर रिपोर्टर. जयपुर

पश्चिमी विक्षोभ व उससे पनपी चक्रवाती हवाओं ने लगातार दूसरे दिन प्रदेश को तर कर दिया। पिलानी में मानसून जैसी बारिश हुई, जिससे वहां कुछ ही घंटों में 89.2 मिलीमीटर बरसात रिकार्ड की गई, जबकि झूंझुनू शहर में 38 मिलीमीटर पानी बरसा। इसके अलावा मकराना, पिलानी व झूंझुनू में ओलों ने मौसम पलटा तो अलवर व गंगानगर में बिजली गिरने से एक की मौत हो गई और कई जगह बिजली के उपकरण फुंक गए। उधर राजधानी में शाम के समय हुई बूंदाबांदी, अंधड़ व रिमझिम ने मौसम पलट दिया। केवल चार घंटों में यहां तापमान में 12 डिग्री की गिरावट हुई, जिससे बढ़ती गर्मी से राहत मिली। शेखावाटी में दूसरे दिन शुक्रवार को भी दिनभर बादलों की आवाजाही के साथ कई स्थानों पर बारिश के साथ ओले गिरे।

जयपुर में दिनभर बादल छाए रहने से अधिकतम तापमान में परिवर्तन नहीं हुअा। हालांकि न्यूनतम तापमान में 2.2 डिग्री की गिरावट हुई। शाम चार बजे अधिकतम तापमान 39.3 डिग्री दर्ज किया गया। शाम 5 बजे बाद मौसम बदला और बूंदाबांदी शुरू हो गई। 65 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चली हवाओं के साथ धूल उड़ी, बादल छाए और बूंदाबांदी व रिमझिम शुरू हो गई। इस पूरे माहौल से रात करीब 8 बजे तक तापमान 12 डिग्री तक गिर गया और 27 डिग्री पर दर्ज किया गया।

विश्वकर्मा में ट्रांसफार्मर गिरा
विश्वकर्मा रोड नं 1 पर बारिश के कारण बिजली का ट्रांसफार्मर पाेल सहित सड़क पर आ गिरा। गनीमत रही की कोई हादसा नहीं हुआ। बारिश के कारण सड़क खाली थी। लोगों ने बिजली विभाग को पोल गिरने की जानकारी दी, लेकिन बारिश के थमने के 3 घंटे बाद भी प्रशासन ने कोई एक्शन नहीं लिया।

खबरें और भी हैं...