पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • गड़ीसर सरोवर स्थित नवनिर्मित शौचालय पर लगा ताला, सैलानी हो रहे हैं परेशान

गड़ीसर सरोवर स्थित नवनिर्मित शौचालय पर लगा ताला, सैलानी हो रहे हैं परेशान

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
स्थानीय गड़ीसर सरोवर पर पर्यटकों की सुविधा के लिए बनाया गया शौचालय निर्माण पूर्ण होने के बाद भी लंबे समय बंद पड़ा है। गौरतलब है कि पर्यटकों की आवाजाही शुरू हो चुकी है। देशी व विदेशी सैलानी गड़ीसर सरोवर के सौंदर्य को निहारने के लिए पहुंच रहे है। इसके साथ ही सीजन के दौरान गड़ीसर सरोवर पर दिनभर हजारों सैलानियों का हुजूम देखने को मिलता है। इस बीच एक मात्र शौचालय के बंद होने के चलते सैलानियों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। इसके साथ ही खास तौर पर महिला सैलानियों को काफी परेशानी झेलनी पड़ती है। नगर परिषद ने सैलानियों की सुविधा के लिए प्रयास ताे किया। लेकिन नवनिर्मित शौचालय को शुरू नहीं किया गया। गौरतलब है कि हर साल लाखों देशी विदेशी सैलानी गड़ीसर तालाब पर स्थित जैसलमेर के पीले पत्थरों से निर्मित तालाब के बीच कलात्मक छतरियां व स्वर्णनगरी के सौंदर्य को निहारने के लिए जैसलमेर पहुंचते है, लेकिन गड़ीसर तालाब के पर शौचालय के अभाव में निराश होकर वापिस लौट जाते है। एक तरफ सरकार करोड़ों खर्च कर शौचालयों का निर्माण करवा रही है। तो दूसरी तरफ लाखों खर्च के बाद निर्मित शौचालय लंबे समय से धूल फांक रहे है।

नगर परिषद आयुक्त बोले , इसे जल्द चालू करा दिया जाएगा

गड़ीसर सरोवर पर लाखों खर्च के बाद निर्मित शौचालय लंबे समय से बंद होने के चलते देशी विदेशी सैलानियों इसका विपरीत असर पड़ता है। देशी विदेशी सैलानी गड़ीसर तालाब पर घंटों देर बैठकर गड़ीसर तालाब के खूबसूरत नजारों का आनंद लेते है। ऐसे में शौचालय के बंद होने के चलते सैलानी परेशान हो जाते है। नगर परिषद के आयुक्त ने कहा कि इसे जल्द चालू करा दिया जाएगा

एक मात्र शौचालय वो भी बंद

पर्यटन स्थल गड़ीसर तालाब पर सीजन में एक दिन हजारों सैलानियों का हुजूम उमड़ता है। ऐसे में एक मात्र ही शौचालय बना हुआ है। एक मात्र शौचालय के बंद होना पर्यटकों के लिए चिंता का विषय बना हुआ है। शौच के दौरान पर्यटकों को गड़ीसर तालाब व तालाब से बाहर कही शौचालय नजर नहीं आता है। ऐसे में पर्यटकों को शौच के लिए दूर दूर भटकना पड़ता है।

भास्कर संवाददाता | जैसलमेर

स्थानीय गड़ीसर सरोवर पर पर्यटकों की सुविधा के लिए बनाया गया शौचालय निर्माण पूर्ण होने के बाद भी लंबे समय बंद पड़ा है। गौरतलब है कि पर्यटकों की आवाजाही शुरू हो चुकी है। देशी व विदेशी सैलानी गड़ीसर सरोवर के सौंदर्य को निहारने के लिए पहुंच रहे है। इसके साथ ही सीजन के दौरान गड़ीसर सरोवर पर दिनभर हजारों सैलानियों का हुजूम देखने को मिलता है। इस बीच एक मात्र शौचालय के बंद होने के चलते सैलानियों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। इसके साथ ही खास तौर पर महिला सैलानियों को काफी परेशानी झेलनी पड़ती है। नगर परिषद ने सैलानियों की सुविधा के लिए प्रयास ताे किया। लेकिन नवनिर्मित शौचालय को शुरू नहीं किया गया। गौरतलब है कि हर साल लाखों देशी विदेशी सैलानी गड़ीसर तालाब पर स्थित जैसलमेर के पीले पत्थरों से निर्मित तालाब के बीच कलात्मक छतरियां व स्वर्णनगरी के सौंदर्य को निहारने के लिए जैसलमेर पहुंचते है, लेकिन गड़ीसर तालाब के पर शौचालय के अभाव में निराश होकर वापिस लौट जाते है। एक तरफ सरकार करोड़ों खर्च कर शौचालयों का निर्माण करवा रही है। तो दूसरी तरफ लाखों खर्च के बाद निर्मित शौचालय लंबे समय से धूल फांक रहे है।

गड़ीसर सरोवर बहुत खुबसूरत जगह है। मैं काफी देर से गड़ीसर सरोवर पर यहां के सौंदर्य व शांतिपूर्ण जगह का लुफ्त उठा रहा हूं। लेकिन इस बीच शौचालय नहीं होने के चलते काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। हैन्स, जर्मनी निवासी

एजेंसी के माध्यम से शौचालय के संचालन की कार्रवाई चल रही है। शौचालय को जल्द ही शुरू कर दिया जाएगा। झब्बरसिंह, आयुक्त, नगर परिषद

खबरें और भी हैं...